CREDIT CARD KYA HAI ? advantages, disadvantages, types, पूरी जानकारी (ALL DETAILS) हिंदी में

CREDIT CARD KYA HAI

CREDIT CARD  क्या है ? आज हम आपको क्रेडिट कार्ड की पूरी जानकारी देने वाले है। क्रेडिट कार्ड क्या है और इसको कैसे इस्तेमाल किया जाता है. क्रेडिट कार्ड आपके बैंक के द्वारा ISSUE कराया गया एक कार्ड होता है जिसका इस्तेमाल instant चीजे खरीदने में किया जाता है। देश भर में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल काफी लोग करने लगे है। इस कार्ड की मदद से लोग तुरंत सामान खरीद सकते है। बैंक के द्वारा क्रेडिट कार्ड में money limit सेट की जाती है, जिसमे आप उसी लिमिट तक का सामान खरीद सकते हो। इसकी खास बात ये है के इसमें, बैंक को पैसे बाद में चुकाने पड़ते है। ये समझ लीजिये के ये एक मिनी लोन है जिसका आप इस्तेमाल कर सकते हो, अपने सामान को खरीदने या जरुरी काम के लिए, उसके बाद आप अपने महीने के आखिर में क्रेडिट कार्ड से हुआ पैसा बैंक को चूका सकते हो। 

CREDIT CARD  क्या है ?

क्रेडिट कार्ड एक सिंपल प्लास्टिक का कार्ड है जो नार्मल कार्ड की तरह ही दिखता है जो बैंक आपको issue करता है. इसका काम instan payment करने के लिए इस्तेमाल होता है। जब आप किसी स्टोर या कोई जरुरी सामान खरीदना चाहते हो तो आप अपने क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर सकते हो जिसके बाद आपको अपने महीने के आखिर में जाकर वो पैसे देने होते है। बैंक आपको आपकी इनकम के बेस पर आपको क्रेडिट कार्ड issue करता है और उसी के बेस पर आपके कार्ड में  money limit सेट करता है आप उस लिमिट तक ही पैसे खर्च कर सकते हो, अगर आपकी इनकम काफी ज्यादा है तो बैंक आपकी मनी लिमिट बढ़ा भी सकता है। और अगर आपकी इनकम 15,000 से कम है तो बैंक आपको क्रेडिट कार्ड issue नहीं करेगा।क्रेडिट कार्ड में आपका account number, expiration date, BIN, card holder name, brand mark, micro-chip, cvv होता है। 

CREDIT CARD पेमेंट कम्पनी/नेटवर्क 

  • VISA 
  • MASTER CARD 
  • AMERICAN EXPRESS 
  • RUPAY 
  • DINERS CLUB 

ये कंपनी पूरा इंफास्ट्रक्चर PROVIDE करती है. जिससे क्रेडिट कार्ड की ट्रान्जेक्शन हो सके। ये कंपनी बैंक से अलग होती है बैंक सिर्फ आपको कार्ड देता है पर इसका सारा पेमेंट मेथड ये कंपनी कंट्रोल करती है। ऊपर दिए गए सारे नेटवर्क पेमेंट प्रोसेसिंग कंपनी है। ऊपर के दो नेटवर्क VISA और MASTER CARD सबसे पॉपुलर पेमेंट नेटवर्क है, हर जगह पर VALID होते है।

CREDIT CARD की लिमिट 

क्रेडिट कार्ड लिमिट वो होती है जितना आप कार्ड से पैसा इस्तेमाल कर सकते हो बैंक आपको एक MONEY लिमिट सेट करके देता है जिससे ऊपर आप पैसे इस्तेमाल नहीं कर सकते मान लीजिए आपके कार्ड की लिमिट 50,000/- है तो आप इससे ऊपर पैसे खर्च नहीं कर सकते।  ये लिमिट कितनी भी हो सकती है ये आपकी इनकम, कोनसा कार्ड अपने लिया है या आपके क्रेडिट SCORE के बेस पर सेट की जाती है। 

CREDIT SCORE क्या है ?



अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किए पैसे बैंक को TIME से नहीं चूकाते है तो बैंक की नजर में ये एक नेगेटिव रिस्पॉन्स है जो आपके रिकॉर्ड पर बुरा असर डालता है इससे बैंक को ये लगता है के आपको पैसे देना काफी RISKY है क्योकि आप पैसे टाइम से नहीं चुकाते। बैंक ने अपना GRADING सिस्टम बनाया हुआ है जिससे बैंक आपको और आपके परफॉर्मंस को ग्रेड करता है ये ग्रेड 300 - 850 के बिच में होता है। 

अगर आपका स्कोर 650-700 के बीच में है तो आपका स्कोर बहुत अच्छा है बैंक की नजर में आप एक भरोसेमंद इन्सान हो पर अगर आपका स्कोर 300-400 के बीच में है तो ये बहुत ख़राब है, बैंक की नजर में आप बिलकुल भी भरोसेमंद इंसान नही हो बैंक को लगेगा के आपको पैसे देना RISKY है,  RECORD के बेस पर बैंक तय करेगा के आपको कार्ड देना चाहिए या नहीं अगर देना चाहिए तो उसकी लिमिट कम रखनी है या ज्यादा ये भी तय किया जाएगा। 

ADVANTAGES 

  • तुरन्त रिस्पॉन्स मिलता है 
  • 15,000 रुपए से ऊपर इनकम वाले क्रेडिट कार्ड इशू करा सकते है 
  • कम RISKY होता है डेबिट कार्ड के मुकाबले 
  • अगर आपके साथ फ्रॉड हो जाता है तो बैंक को 3 दिन के अंदर रिपोर्ट करने से आपका पैसा आपको वापस मिल जायेगा। 
  • CASH BACK, INSURANCE, DISCOUNT जैसे रिवॉर्ड्स बहुत ज्यादा मिलते है। 
  • पैसे इस्तेमाल करके आराम से महीने के आखिर में पैसे बैंक को दे सकते है। 

DISADVANTAGES 

  • अगर टाइम से पैसे नहीं चुकाते है तो बैंक आपके ऊपर हाई चार्ज रेट लगा देता है जिससे आपको ज्यादा पैसा देना पड़ता है। 
  • बैंक द्वारा ली गयी HIDDIN FEES बहुत ज्यादा होती है। 
  • इनकम के बेस पर कार्ड या लिमिट सेट की जाती है, अगर आपकी इनकम कम है तो आपके लिए क्रेडिट कार्ड ISSUE ना होना या MONEY लिमिट कम हो सकती है। 
  • अपने कार्ड की डिटेल्स किसी के साथ शेयर न करे वरना आपके साथ फ्रॉड हो सकता है। 

बैंक कैसे पैसे कमाता है क्रेडिट कार्ड से ?

  • एनुअल फीस चार्ज करके, अगर आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे है तो बैंक आपसे साल का कुछ चार्ज वसूलता है 
  • अगर आप टाइम से पैसे नहीं चूका पा रहे है तो आपके ऊपर बैंक लेट फीस चार्ज लगाता है 
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड से CASH निकालना चाहते है तो बैंक आपसे 2-5 % का एक्स्ट्रा चार्ज लेता है। 
  • महीने के आखिर में पैसे नहीं चुकाने पर बैंक आपसे 30 % तक चार्ज करता है जो बहुत ज्यादा है। 

ध्यान देने वाली बात 

  • क्रेडिट कार्ड लेते समय हर बात की जानकारी ले, जैसे कोनसा बैंक आपको क्रेडिट कार्ड ISSUE कर रहा है और उस बैंक को कितना HIDDIN चार्ज देना पड़ेगा
  • कोनसा क्रेडिट कार्ड आप इस्तेमाल कर रहे हो, बैंक के द्वारा हाई लेवल, मीडियम और लौ लेवल के कार्ड इशू होते है। 
  • कोनसा पेमेंट नेटवर्क इस्तेमाल किया जा रहा है उस कार्ड में, VISA और MASTER CARD सबसे ज्यादा पॉपुलर और हर जगह वैलिड होता है। 

सही सलाह(ADVICE)

  • अगर आपकी इनकम अच्छी है और आप टाइम से अपने क्रेडिट कार्ड के बिल चुका सकते है तो आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर सकते है। 
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल उन चीजो को खरीदने में कर रहे है जिनको आप अफ़ोर्ड नहीं कर सकते तो क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल न करे 
  • अगर ONLINE PAYMENT करते वक्त आपको फ्रॉड होने का खतरा रहता है तो सेफ्टी के लिए आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते है।  
  • क्रेडिट कार्ड के पीछे एक MAGNETIC STRIP और CVV नंबर होता है। ये दोनों हमारे लिए बेहद जरुरी चीज होती है इसलिए इसको सम्भाल के रखना जरुरी है। वरना आपके साथ धोखा या फ्रॉड  हो सकता है। इसलिए अपने क्रेडिट कार्ड को संभाल कर रखे और खो जाने या चोरी होने पर तुरंत बैंक को सूचित करे। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ