इस मिटटी में स्वाद और सेहत है | मिट्टी के बर्तनों में खाना खाने के फायदे


Introduction 

पहले के समय में लोग मिटटी से बने बर्तनो में खाना खाते थे। आजसे 20 साल पहले ज्यादा तर बर्तन से बनते थे। लेकिन बदलते दौर में ये मिटटी के बर्तन कही खोने लगे। लोगो ने खाने के लिए स्टील  बर्तनो का इस्तेमाल करना ज्यादा कर दिया। स्टील के बर्तनो के फायदे काफी है क्योकि वो मिटटी के बर्तनो की तरह टूटते नहीं है। इसी कारण स्टील  मिटटी की महक को पीछे छोड़ दिया।

ये मानना आसान है के स्टील  बर्तन मिटटी बर्तन से ज्यादा लम्बे समय तक चलते है और उनमे खाना भी जल्दी से पाक जाता है। लेकिन स्टील के बर्तन हमें वैसे फायदे तो पहुंचते है लेकिन ये मिटटी के बर्तनो में बने खाने के स्वाद में पीछे है। स्वाद खाने का सबसे जरुरी हिस्सा है जिसके लिए हम मुश्लिके भी उठा सकते है। स्टील  बर्तनो में बना खाना जल्दी तो बन जाता है लेकिन लेकिन स्वाद नहीं होता।

मिटटी के बर्तन से हमारी सेहत भी तंदुरुस्त रहती है। मिटटी के अंदर बहुत सारे पोषक होते है जो हमारी सेहत को बेहतर बनाने का काम करते है। मिटटी के बर्तनो में खाना बनाने से और खाने से मिटटी के गुण शरीर को हेल्दी बनाते है।  

अब मिटटी से बने बर्तनो  दौर फिरसे शुरू होने लगा है। पिछले 5 साल से मिटटी के बर्तनो में वृध्दि हुई है अब लोग मिटटी के बर्तनो का काफी इस्तेमाल करने लगे है। क्योकि अब हम जान चुके है के स्टील के बर्तनो से ज्यादा मिटटी के बर्तनो में ज्यादा स्वादिष्ट खाना बनता है। यहां पर हमें मिटटी के बर्तन बनाने वाले कुम्हारो की तारीफ करनी होगी। क्योकि अब मिटटी के बर्तन अलग अलग डिज़ाइन में बनने लगे है। जो हमें बहुत आकर्षित करते है। 

मिटटी के बर्तन अब बड़े पैमाने पर बनने लगे है। बड़ी फैक्ट्रियो में अब बर्तनो को अलग अलग आकार और डिज़ाइन में बनाए जाते है  जिनको आप मार्किट से या ऑनलाइन आर्डर करके अपने घर मंगवा सकते है। आप मिटटी से बने कटोरी, चमच, प्लेट, गिलास, तवा, बोतल, जग, कुकर, फ्रिज इत्यादि। जैसे  सामानो को खरीद सकते है। मिटटी के बर्तनो को लेकर लोगो में थोड़ा डर रहता है कैसे के मिटटी के बर्तनो को सँभालने में काफी मुश्किल होती है। लेकिन मिटटी के बर्तनो को संभालना ज्यादा मुश्किल नहीं है। मिटटी के बर्तनो को नार्मल बर्तनो की  रख सकते है बाकि बर्तनो की तरह धो सकते है। 

मिटटी के बर्तनो का तापमान बाकि बर्तनो से 40 % ज्यादा होता है। अगर आप मिटटी के बर्तनो खाना बनाना चाहता है तो ज्यादा तापमान में खाना अच्छा और जल्दी बन जाता है। और बर्तन को धोते समय डिश वाश का इस्तेमाल करे जिससे अच्छे से सफाई हो सके। 

हमे उम्मीद है के आपको ये आर्टिक्ल अच्छा लगा होगा। हमने आपको मिटटी से बने बर्तनो के स्वाद के बारे में बताया है। आप भी मिटटी के बर्तनो में बनने वाले खाने का लुफ्त उठा सकते हैं। हम आपके लिए ऐसे ही मनोरंजन भरी बाते लेकर आते रहेंगे।   

मिटटी के बर्तनो के फायदे क्या है ?

स्वादिष्ट और पौष्टिक खाना 

मिटटी के बर्तनो में बनाया गया खाना स्टील के बर्तन से ज्यादा पौष्टिक और स्वादिस्ट बनता है। मिटटी के बर्तन धीरे धीरे गर्म होता है जिससे खाना भी धीरे धीरे पकता है। इस कारण से खाने के पोषक तत्व बने रहते है और खाना जलता भी नहीं है। मांस वाला खाना मिटटी के बर्तन में बड़े ही अच्छे तरीके से पकता है इसलिए अपने कभी देखा होगा के मिटटी के बर्तन में बनाया गया मांस रस भरा और मुलायम होता है। 

कम तेल इस्तेमाल होता है। 

जब हम मिटटी के बर्तन में खाना बनाते है तो ये धीरे धीरे खाने को पकाते है जिससे खाने का तेल उड़ता नहीं है। इसी कारण हम एक्स्ट्रा तेल की ज्यादा जरुरत नहीं पड़ती। खाने के अंदर पाए जाने वाले फायदेमंद पोषण बने रहते है। 

एसिड को कम कर देते है 

मिटटी के बर्तन का नेचर base परवर्ती का होता है जिससे कब हम खाना बनाते है तो खाने के अंदर होने वाले एक्स्ट्रा एसिड को कम कर देता है  जिसके कारण खाना संतुलित हो जाता है। जिससे खाने का स्वाद और बढ़ जाता है। 

पोषक तत्व मिलना 

हम सब जानते है हर भोजन मिटटी से ही बनता है और भोजन के पोषक तत्व का आधार भी मिटटी ही है। जिससे ये पता चलता है के मिटटी में काफी पोषक तत्व होते है। मिटटी के बर्तनो में खाना बनाने से ये पोषक तत्व हमारे खाने में मिलके हमारे शरीर को फायदा पहुंचाते है। 

सस्ता 

मिटटी के बर्तन की कीमत स्टील से काफी कम है। कोई भी इंसान इसको खरीद सकता है। अगर आप स्वाद के शौकीन है तो आप मिटटी के बर्तनो में खाना शुरू कर दीजिये। हम जानते  मिटटी से बने ये बर्तन अब ज्यादा नहीं बिकते इसलिए अगर आप इनको खरीदते है तो आप एक परिवार के रोजगार का सहारा बन रहे है।    


     

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ