Food Review: पश्चिम बंगाल और उड़ीसा की फेमस DISH पंता भात जानिए क्यों है इतनी लोकप्रिय ?

0


पंता भात क्या है ?

पंता भात (fermented rice) एक पारंपरिक भारतीय चावल का भोजन है जो बंगाल, ओडिशा और बिहार के राज्यों में बहुत फेमस है। इसे पोइताभात या पानी भात के नाम से भी जाना जाता है। पंता भात को बासी चावल को पानी में भिगोकर और फिर उसे fermented करके बनाया जाता है। इस प्रक्रिया से चावल नरम और स्वादिष्ट हो जाता है। पंता भात को आमतौर पर ठंडा करके परोसा जाता है और इसे अक्सर अचार, मसालों या सब्जियों के साथ खाया जाता है।


पंता भात का इतिहास

पंता भात क्या है ? - पंता भात का इतिहास सदियों पुराना है। यह माना जाता है कि यह डिश पहली बार भारत के पूर्वी हिस्सों में बनाया गया था। पंता भात को गर्मियों के मौसम में ठंडा खाने के लिए बनाया जाता था। यह एक पौष्टिक और हलका भोजन है जो गर्मी से राहत देने में मदद करता है।


पंता भात बनाने की विधि

पंता भात बनाने के लिए निम्नलिखित चीजों की जरुरत होती है:


1 कप बासी चावल

2 कप पानी

3 स्वादानुसार नमक


विधि:

1. एक बर्तन में चावल और पानी डालकर अच्छी तरह मिला लें।

2. बर्तन को ढककर कम से कम 8 घंटे या रात भर के लिए रख दें।

3. 8 घंटे बाद, चावल को एक छलनी में छान लें।

4. चावल को एक बाउल में निकाल लें और स्वादानुसार नमक मिला लें।


पंता भात के साथ परोसने के लिए कुछ विकल्प:

➣ अचार: पंता भात को अचार के साथ खाने से इसका स्वाद और बढ़ जाता है। आम, लहसुन, प्याज, या मिर्च का अचार पंता भात के साथ अच्छा जाता है।

➣ मसाले: पंता भात को मसालों के साथ भी खाया जा सकता है। जीरा, धनिया, या मिर्च पाउडर के साथ पंता भात का स्वाद बढ़ जाता है।

➣ सब्जियां: पंता भात को सब्जियों के साथ भी खाया जा सकता है। आलू, बैंगन, या भिंडी जैसी सब्जियों को पंता भात के साथ मिलाकर खाया जा सकता है।


पंता भात के स्वास्थ्य लाभ

पंता भात क्या है ? - पंता भात एक पौष्टिक और हलका भोजन है। इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, और फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। पंता भात में विटामिन और मिनरल्स भी होते हैं। पंता भात के कुछ स्वास्थ्य लाभ निचे दिए गए हैं:


➣ पेट के लिए अच्छा है: पंता भात पचने में आसान होता है और यह पाचन तंत्र के लिए अच्छा होता है।

➣ ऊर्जा प्रदान करता है: पंता भात में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है, जो ऊर्जा प्रदान करता है।

➣ पाचन तंत्र को मजबूत करता है: पंता भात में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है।

➣ वजन कम करने में मदद करता है: पंता भात में कैलोरी की मात्रा कम होती है, जो वजन कम करने में मदद कर सकता है।


पंता भात एक स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन है जो गर्मियों के मौसम में खाने के लिए एकदम सही है। यह एक पोषण से भरपूर और पाचन योग्य भोजन है जो कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।


पंता भात की विविधता:

हालांकि मूल नुस्खा काफी सरल है, पंता भात की कई विविधताएं हैं जिन्हें अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग तरीकों से बनाया जाता है। उदाहरण के लिए:


➣ ओडिशा में: इसे अक्सर कच्चे आम या नींबू के रस के साथ मिलाकर एक टैंगी स्वाद दिया जाता है। 

➣ बंगाल में: इसे कभी-कभी मछली या झींगा के साथ पकाया जाता है।

➣ बिहार में: इसे कभी-कभी सरसों के तेल या घी के साथ तड़का लगाकर परोसा जाता है।


पंता भात से जुड़े त्योहार और परंपराएं:

पंता भात भारत के पूर्वी भागों में कई त्योहारों और परंपराओं का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। उदाहरण के लिए:


➣ ओडिशा में: इसे अन्नामृगा हवन के दौरान भोग के रूप में परोसा जाता है, जो एक वार्षिक त्योहार है जो भगवान जगन्नाथ की पूजा के लिए मनाया जाता है।

➣ पश्चिम बंगाल में: इसे पौश मास, बंगाली कैलेंडर के अंतिम महीने के दौरान एक स्पेशल व्यंजन के रूप में माना जाता है।


पंता भात के आधुनिक रूप:

पंता भात आज भी एक लोकप्रिय डिश है, लेकिन इसे अक्सर आधुनिक मोड़ के साथ तैयार किया जाता है। उदाहरण के लिए, कुछ रेस्टोरेंट इसे फ्यूजन व्यंजनों में शामिल कर रहे हैं, जैसे कि पंता भात बर्गर या पंता भात सलाद।


➤ पंता भात के बारे में कुछ रोचक बाते:

👉 माना जाता है कि पंता भात का नाम संस्कृत शब्द "पानीयता" से आया है, जिसका अर्थ है "पानी में पका हुआ"।

👉 पारंपरिक रूप से, पंता भात को मिट्टी के बर्तन में बनाया जाता था, जो उबाल प्रक्रिया को बढ़ावा देने में मदद करता था।

👉 कुछ लोग पंता भात को औषधीय गुणों वाला भी मानते हैं, और इसका उपयोग पेट की समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है।


मुझे उम्मीद है कि पंता भात के बारे में यह जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी। क्या आप इस व्यंजन के बारे में कुछ और जानना चाहते हैं?


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)
To Top