Food Review: भारत की मशहूर अलग-अलग वड़ा डिश जिसे हर कोई पसंद करता है | India's famous different Vada dishes

0


#1 दाल वड़ा 

दाल वड़ा एक फेमस भारतीय नाश्ता है जो दाल से बनाया जाता है। दाल को पीसकर इसका पेस्ट बनाकर और फिर उसे गोल आकार में बेलकर तला जाता है। दाल वड़ा को चटनी या सॉस के साथ परोसा जाता है।


टिप्स:

  • दाल को अच्छी तरह पीसने से वड़ा नरम और टेस्टी बनता है।
  • वड़ों को तलने से पहले तेल को अच्छी तरह गर्म होने दें।
  • वड़ों को ज्यादा देर तक न तलें नहीं तो वे अंदर से कच्चे रह सकते हैं।


#2 मेदू वड़ा

मेदू वड़ा एक पारंपरिक दक्षिण भारतीय नाश्ता है जो उड़द दाल से बनता है। यह एक नरम और टेस्टी कुरकुरे वड़े है जो आमतौर पर सांभर और चटनी के साथ खाया जाता है।

मेदू वड़ा बनाने के लिए, उड़द दाल को 6-8 घंटे के लिए भिगो दें। फिर, दाल को पीसकर गाढ़ा घोल बना ले। घोल में नमक और हींग डालें। एक चमचे से घोल को तेल में डालकर कुरकुरा होने तक तलें।


टिप्स

  • दाल को अच्छी तरह से भिगोने से घोल गाढ़ा बनता है
  • घोल को ज्यादा न घोलें, वरना वड़े कच्चे रह जाएंगे
  • वड़े को medium आँच पर ही तलें, वरना बाहर से कुरकुरे और अंदर से नरम नहीं बनेंगे


#3 उड़द वड़ा

उड़द वड़ा एक ट्रेडिशनल भारतीय नाश्ता है जो उड़द दाल से बनाया जाता है। यह एक कुरकुरा, गोल आकार का पकवान होता है जो अक्सर चटनी और सॉस के साथ परोसा जाता है।

उड़द वड़ा एक स्वादिष्ट और पौष्टिक नाश्ता है जो भारत के कई हिस्सों में काफी पसंद किया जाता है। यह एक अच्छा प्रोटीन स्रोत है और इसमें फाइबर भी होता है।


#4 कांजी वड़ा

कांजी वड़ा भी एक ट्रेडिशनल गुजराती ब्रेकफास्ट है। यह मूंग दाल से बनता है और बहुत कुरकुरा होता है जिसे कांजी या राई के पानी में डुबोकर परोसा जाता है। कांजी एक खट्टी-मीठी और हल्का नमकीन चाशनी के साथ खाया जाता है।


कांजी वड़ा बनाने के लिए, मूंग दाल को भिगोकर पीसकर गाढ़ा घोल तैयार किया जाता है। घोल में नमक और हींग डालकर छोटे-छोटे वड़े बनाए जाते हैं। वड़े को गरम तेल में कुरकुरा होने तक तला जाता है। तले हुए वड़े को कांजी में डुबोकर परोसा जाता है।


#5 साबूदाना वड़ा

साबूदाना वड़ा एक फेमस भारतीय नाश्ता है जो साबूदाना से बनाया जाता है। साबूदाना एक प्रकार का टैपिओका स्टार्च होता है जो जूट के पौधे से प्राप्त होता है। साबूदाना वड़ा बनाने के लिए साबूदाना को रात भर पानी में भिगोया जाता है। फिर इसे मसाले और नमक के साथ मिलाया जाता है उसके बाद गोल-गोल आकार में बनाकर तल दिया जाता है। साबूदाना वड़ा बाहर से कुरकुरा और अंदर से नरम होता है। इसे अक्सर चटनी या सांभर के साथ खाया जाता है।


#6 राजस्थानी मिर्ची वड़ा

राजस्थानी मिर्ची वड़ा एक लोकप्रिय राजस्थानी स्नैक है। यह हरी मिर्ची में आलू के साथ अलग अलग मसालों की स्टफिंग की जाती है और इसे बेसन के घोल में लपेट कर तेल में तल कर तैयार किया जाता है।


राजस्थानी मिर्ची वड़ा बनाने के लिए, सबसे पहले हरी मिर्च को बीच से चीरकर साफ कर लें। फिर, आलू को उबालकर मैश कर लें। एक कटोरे में आलू, मिर्च, अदरक, हरी मिर्च, धनिया, जीरा, हींग, नमक, और लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब, बेसन में पानी डालकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। इस घोल में मिर्ची की स्टफिंग डालकर अच्छी तरह मिला लें। फिर, एक चम्मच से घोल को तेल में डालकर कुरकुरा होने तक तलें।


टिप्स

  • मिर्ची को अच्छी तरह से धो लें और बीच से चीरा लगाकर बीज निकाल दें।
  • आलू को उबालकर मैश कर लें।
  • मैश किए हुए आलू में प्याज, हरी मिर्च, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर और स्वादानुसार नमक मिलाएं।
  • मिर्ची के अंदर इस मिश्रण को भर दें।
  • बेसन में नमक और लाल मिर्च पाउडर मिलाकर गाढ़ा घोल बना लें।
  • भरी हुई मिर्ची को बेसन के घोल में पूरी तरह से डुबोएं।
  • तेल गरम करके मिर्ची को सुनहरा भूरा होने तक तलें।


#7 बटाटा वड़ा

बटाटा वड़ा एक काफी पसंद किया जाने वाला भारतीय नाश्ता है जो उबले हुए आलू के मिश्रण से बनाया जाता है। इस मिश्रण को चने के आटे और मसालों के साथ मिलाकर गोल-गोल आकार के वड़े बनाकर गरम तेल में तलकर तैयार किया जाता है। बटाटा वड़ा आमतौर पर चटनी और सांभर के साथ परोसा जाता है।


बटाटा वड़ा भारत के विभिन्न हिस्सों में बनाया जाता है, लेकिन यह महाराष्ट्र में ज्यादा लोकप्रिय है। मुंबई में, बटाटा वड़ा को अक्सर वड़ा पाव के रूप में परोसा जाता है, जो एक फेमस स्ट्रीट फूड है।


टिप्स:

  • बटाटे अच्छी तरह से उबलने से वड़े नरम और स्वादिष्ट बनते हैं।
  • बटाटे को अच्छी तरह से मैश करने से वड़े का मिश्रण एक समान हो जाता है और वड़े अच्छी तरह से बनते हैं।
  • वड़े को बहुत बड़े या बहुत छोटे न बनाएं। मध्यम आकार के वड़े अच्छी तरह से बनते हैं और खाने में भी स्वादिष्ट लगते हैं।
  • वड़ों को मध्यम आँच पर सुनहरा भूरा होने तक तलें। इससे वड़े अंदर से नरम और बाहर से क्रिस्पी होते हैं।
  • तले हुए वड़ों को पानी में भिगोकर रखने से वे नरम रहते हैं।


#8 कांजी वड़ा 

कांजी वड़ा एक पारंपरिक गुजराती नाश्ता है। यह मूंग दाल के वड़े को कांजी या राई के पानी में डुबोकर बनाया जाता है। कांजी एक खट्टी-मीठी चावल का पानी होता है जो आमतौर पर गुजरात में बनाई जाती है।


कांजी वड़े बनाने के लिए, सबसे पहले मूंग दाल को 4-6 घंटे के लिए भिगो दें। फिर, दाल को पीसकर गाढ़ा घोल तैयार करें। घोल में नमक, हींग, और लाल मिर्च पाउडर डालें। एक चमचे से घोल को तेल में डालकर गोल-गोल वड़े बनाएं। वड़े को मध्यम आँच पर सुनहरा भूरा होने तक तलें।


टिप्स

  • कांजी बनाने के लिए, पानी, दाल, नमक, और मसालों को एक साथ मिलाकर रख दें। इसे कम से कम 3 दिन तक रखें। इससे कांजी में स्वाद और खट्टापन आता है।
  • दाल को कम से कम 6 घंटे या रात भर भिगोने से यह नरम हो जाती है और वड़े अच्छी तरह से बनते हैं।
  • दाल को अच्छी तरह से पीसने से वड़े का घोल गाढ़ा और चिपचिपा हो जाता है, जिससे वड़े अच्छी तरह से बनते हैं।
  • वड़े को बहुत बड़े या बहुत छोटे न बनाएं। मध्यम आकार के वड़े अच्छी तरह से बनते हैं और खाने में भी स्वादिष्ट लगते हैं।
  • वड़ों को मध्यम आँच पर सुनहरा भूरा होने तक तलें। इससे वड़े अंदर से नरम और बाहर से क्रिस्पी होते हैं।
  • तले हुए वड़ों को कांजी में डालकर परोसें।


#9 मसाला वड़ा

मसाला वड़ा एक दक्षिण भारतीय नास्ता है जो चने की दाल, मसाले और हर्ब्स से बनाया जाता है। इसे आमतौर पर चाय या कॉफी के साथ नाश्ते के रूप में परोसा जाता है।


मसाला वड़ा बनाने के लिए, पहले चने की दाल को रात भर या कम से कम 6 घंटे के लिए भिगोया जाता है। फिर, दाल को अच्छी तरह से धोया जाता है और एक ब्लेंडर में पीसकर इसका मिश्रण बनाकर इसमें मसाले और हर्ब्स डालकर अच्छी तरह मिलाया जाता है। फिर, इस मिश्रण को गोल-गोल आकार देकर गरम तेल में डीप फ्राई किया जाता है। मसाला वड़ा सुनहरे भूरे रंग का हो जाता है और अंदर से नरम होता है। इसे चटनी या सॉस के साथ परोसा जाता है।


टिप्स:

  • वड़े को नरम बनाने के लिए, दाल को अच्छी तरह से पीसना जरुरी है।
  • वड़े को कुरकुरा बनाने के लिए, उन्हें मध्यम आँच पर तलें।
  • वड़े को गर्म या ठंडा परोसा जा सकता है।

 

#10 दही वड़ा

दही वड़ा एक काफी ज्यादा फेमस भारतीय स्नैक है जो उड़द दाल के घोल से बने वड़ों को दही में डुबोकर बनाया जाता है। इसे अक्सर मीठी चटनी और मसाले के साथ परोसा जाता है।


दही वड़ा बनाने के लिए, उड़द दाल को रात भर भिगोया जाता है और फिर पीसकर घोल बना लिया जाता है। इस घोल में नमक और बाकि के मसाले मिलाए जाते हैं। फिर, इस घोल से वड़े बनाए जाते हैं और तेल में तलकर सुनहरा भूरा होने तक तले जाते हैं। तले हुए वड़े को पानी में भिगोकर रखा जाता है ताकि वे नरम रहें।


टिप्स 

  • दाल को कम से कम 6 घंटे या रात भर भिगोने से यह नरम हो जाती है 
  • दाल को अच्छी तरह से पीसने से वड़े का घोल गाढ़ा और चिपचिपा हो जाता है, 
  • वड़े को बहुत बड़े या बहुत छोटे न बनाएं। मध्यम आकार के वड़े अच्छी तरह से बनते हैं 
  • वड़ों को मध्यम आँच पर सुनहरा भूरा होने तक तलें। 
  • तले हुए वड़ों को पानी में भिगोकर रखने से वे नरम रहते हैं।


#11 पाव भाजी वड़ा

पाव भाजी वड़ा बनाने के लिए, सबसे पहले एक वड़ा बनाया जाता है। वड़ा बनाने के लिए, उड़द दाल को रात भर भिगोया जाता है और फिर पीसकर घोल बनाया जाता है। इस घोल में नमक और अन्य मसाले मिलाए जाते हैं। फिर, इस घोल से वड़े बनाए जाते हैं और तेल में तलकर सुनहरा भूरा होने तक तले जाते हैं।


टिप्स:

  • वड़ा के लिए, उड़द दाल को रात भर भिगो दें। इससे दाल नरम हो जाएगी और वड़ा बनना आसान हो जाएगा। 
  • दाल को अच्छी तरह से पीस लें। दाल को जितना बारीक पीसा जाएगा, वड़ा उतना ही नरम होगा। 
  • वड़े को मध्यम आकार में बनाएं। बहुत बड़े वड़े तलते समय टूट सकते हैं। 
  • वड़े को सुनहरा भूरा होने तक तलें।
  • भाजी बनाने के लिए, टमाटर, प्याज, बैंगन, गोभी और मटर को कटा लें।
  • सब्जियों को तेल में भूनें और फिर मसाले डालकर पकाएं।
  • भाजी को गाढ़ी होने तक पकाएं।
  • पाव को भाजी में डुबोकर परोसें।


#12 खांडवी वड़ा

खांडवी एक नरम और स्वादिष्ट स्नैक है जो बेसन, दही और मसालों से बनाया जाता है। इसे भाप में पकाया जाता है, जिससे यह हल्का और पौष्टिक होता है। ये एक क्रिस्पी स्नैक है जो उड़द दाल से बनाया जाता है। इसे तेल में तला जाता है, जिससे यह बाहर से क्रिस्पी और अंदर से नरम होता है।


टिप्स:

  • खांडवी वड़ा बनाने के लिए, आपको बेसन, दही, नींबू का रस, हल्दी, जीरा पाउडर, हींग, हरी मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, और नमक की आवश्यकता होगी।
  • बेसन को अच्छी तरह से पीसने से वड़ा का घोल गाढ़ा और चिपचिपा हो जाता है, जिससे वड़ा अच्छी तरह से बनता है।
  • दही को अच्छी तरह से फेंटने से वड़ा में नरमी आती है।
  • अपने स्वाद के अनुसार मसाले डालें।
  • घोल को गाढ़ा करने के लिए, आप इसमें थोड़ा सा बेसन या आटा मिला सकते हैं।
  • वड़े को गोल या अंडाकार आकार में बनाएं।
  • वड़े को सुनहरा भूरा होने तक मध्यम आँच पर तलें। 
  • खांडवी वड़ा को गर्मा-गर्म परोसने से इसका स्वाद और भी अच्छा होता है।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)
To Top