social media के साइड effect से कैसे बचे ?



सोशल मीडिया आज के समय में बहुत ही बड़ा प्लेटफार्म बन चूका है और बड़ो से लेकर बच्चो तक सभी इसको इस्तेमाल करते है सोशल मीडिया लोगो को लोगो से जोड़ने का एक प्लेटफार्म है जिसमे हम अपने दोस्त, रिश्तेदार या जान पहचान के लोगो से बात कर सकते है पर ये बाते यहा तक तो  समझ आती है और ये सुनने में बहुत अच्छी लगती है के लोगो से जुड़ना अपने घर या ऑफिस से ये एक अच्छा तरीका है पर यहा पर ध्यान देने वाली बात ये है के हर चीज की नेगेटिव साइड भी होती है. सोशल मीडिया इस्तेमाल करना कोई बुरा नहीं है पर जब तक उसको लिमिट में किया जाए पर अगर इस्तेमाल लिमिट से ज्यादा होने लगे तो ये आपके लिए बुरा है।
 


सोशल मीडिया पूरी दुनिया में फैल चूका है almost पूरी दुनिया रोजाना यहां काफी टाइम स्पेंड करती है। एक रिसर्च से ये पता चला है के सोशल मीडिया तम्बाकू, शराब की तरह ही है जिसकी इंसानो को जल्दी लत लग जाती है। किसी भी चीज की लत लग जाना हमारी जिंदिगी को अँधेरे में धकेले का रास्ता है। आप इस लत से भर आ सकते है क्योकि इसका कंट्रोल आपके हातो में ही है कोई भी तरीका आपको इस लत से जब तक बाहर नहीं निकाल सकता जब तक आप खुद इससे बाहर ना निकलना चाहो, आगे हम आपको कुछ टिप्स के बारे में बताएंगे जिससे आपको अपने माइंड सेट को चेंज करने में मदद मिलेगी और जिससे आपको इस सोशल मीडिया की लत से बाहर निकलने में मदद मिलेगी। 

अगर हम सिंपल करके आपको बताए के लत का दूसरा नाम होता है के किसी काम या किसी चीज का जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल करने की आदत ये सिर्फ एक आदत ही है जिसका आपको balance बनके चलना है। बहुत से लोग यहां पर समझने में गलती कर देते है के वो एक दिन में अपनी आदत को बदल देंगे एक दम से वो सोशल मीडिया को चलाना छोड़ देंगे पर वे इसमें जल्दी ही ना कामयाब हो जाते है। ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। हमे बस समझना है के सोशल मीडिया को बैलेंस कैसे करे, आपको सोशल मीडिया को छोड़ना नहीं है और ना ही उससे दूर भागना है बस आपको अपने दिन के रूटीन में थोड़े सा बदलाव करना है जैसे आप मोबाइल को या सोशल मीडिया को सुबह उठने के 1 घंटे बाद इस्तेमाल करे और रात को सोने से पहले 2 घंटे पहले इसको इस्तेमाल ना करे अगर ये छोटा सा काम आप कर सकते है तो आपकी लाइफ में बदलाव आना चालू हो जायेगा जो आपको बहुत फायदा करेगा। 

साइड इफ़ेक्टस  

आलास 

सोशल मीडिया जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल करने से बॉडी में आलास आने लगता है। किसी भी काम में मन नहीं लगता दूसरे काम बोरिंग लगने लगते है। 

सर दर्द 

ज्यादा फ़ोन या सोशल मीडिया चलाने से सर दर्द की समस्या बढ़ने लगती है क्योकि जरुरत से ज्यादा इनफार्मेशन माइंड में स्टोर हो जाती है जिससे दिमाग में प्रेशर बनने लगता है जो आपकी परेशानी का कारण बनता है 

एक्सपेक्टेशन का बढ़ना 

जब आप सोशल मीडिया पर लोगो को अट्रेक्टिव चीजों के साथ देखते है तो आपके मन में भी उसको पाने की इच्छा जगने लगती है। 

टाइम वेस्ट 

लोग अपने ज्यादा तर टाइम सोशल मीडिया पर बिता देते है और उनको पता ही नहीं चलता बाद में उनको बुरा लगता है के उनका सारा टाइम बर्बाद हो गया। 

फोकस कम हो जाता है 

जब आप सोशल मीडिया इस्तेमाल करते है तो आपको काफी सारी चीजों पर एक सात ध्यान देना पड़ता है जिससे एक चीज में फोकस की क्षमता कम हो जाती है। 

आँखों पर बुरा परभाव 

ये आप सभी जानते होंगे के जब जरुरत से ज्यादा फ़ोन अपकी आँखों के सामने रहता है तो आँखों में दर्द होना चालू हो जाता है और आँखों की रौशनी भी कम होने लगती है। जिससे लोगो को चश्मा लगाना पड़ जाता है 

माइंड dull हो जाता है 

सोशल मीडिया content आपके माइंड को कमजोर कर सकता है क्योकि इस पर लोग कुछ भी बनाकर अपलोड कर देते है जो आपकी maturity लेवल को कम करता है। 

reality से दूर हो जाना 

लिमिट से ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल हमे रियलिटी से अलग कर  सकता है जिससे आपके रिलेशन ख़राब होने के चांस बढ़ जाते है। 

 टिप्स/सोलुशन 

  • सोशल मीडिया के जाल से बाहर निकलने के लिए आपको अपने रूटीन को समझना बढ़ेगा और उसके अकॉर्डिंग काम करना पड़ेगा। 
  • अपने रोजाना दिनों में आपको फ़ोन चलने के टाइम को थोड़ा थोड़ा कम करना है जैसे एक दिन में 1 घंटा कम इस्तेमाल करे फ़ोन का 
  • ज्यादा से ज्यादा reality से  जुड़े जितना आप रेलाइटी से जुड़ना चालू हो जाएंगे उतना ही आप सोशल मीडिया ली लत से बहार निकल सकते है 
  • अपने आप से question पूछे के जो आप आज कर रहे हो उससे आपकी आने वाली लाइफ में क्या फायदा होने वाला है 
  • कोई बड़ा purpose बनाओ जिसको पाना आपका पहला मकसद बन जाए जो आपकी लाइफ को बेहतर बनाए जैसे हेल्थ को बेहतर करना और financially फ्रीडम। 
  • सोशल मीडिया को छोड़ना नही है बस थोड़ा कम कर देना है जिससे आपकी सेहत और लाइफ में कोई परेशानी ना आए 
  • दोस्तों से बात करे पर लिमिट में मोबाइल फ़ोन और सोशल मीडिया का इस्तेमाल करे अपने काम को बेहतर बनाने के लिए। 
ऊपर बताई गई बात तब तक फायदा नहीं कर सकती जब तक आप सच मे खुदसे ये न पूछे के आखिर आपको अपनी लाइफ से क्या चाहिए अगर आप सच में इस चीज से बाहर निकलना चाहते है तो आपको स्मार्ट तरीके से काम करना होगा, ये बस एक आदत है जो आपको समझनी है और इसको बदल देना नामुनकिन काम नहीं है।  उम्मीद है आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा।  

 

        

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ