| International Left-Handers Day 13 August 2021 | Left-Handers मजेदार और Unique फैक्ट्स (in hindi)


दुनियाभर में 13 अगस्त को हर साल अंतर्राष्ट्रीय लेफ्ट हेंड  दिवस मनाया जाता है। ये दिवस सबसे पहले 13 अगस्त 1976 को बनाया गया था आज  45वा इंटरनेशनल लेफ्ट हैंडेड डे है। ये एक तरीका है उन लोगों को स्वीकार करने का उसके सात हसी खुसी जीने का जो अपने बांए हात का इस्तेमाल करते है  दुनिया में , बाएं हाथ का इस्तेमाल करने वाले लोगो के लिए आज सेलिब्रेशन का दिन है.हम अपने लेफ्ट हैंडर मित्रों और परिवार को बुलाकर इस दिन बड़े धूम घाम से मनाते है, तो आइ अब लेफ्ट हैंड वाले इंसानो की जिंदिगी के बारे में जानते है। आइये leftists के बारे में कुछ मजेदार बाते जानते है  जो उन्हें कई मायनों में Unique बनाते हैं। 

नीचे बताई गयी बाते लेफ्ट हैंड का इस्तेमाल करने वाले लोगो के लिए है अगर आपका कोई दोस्त या रिश्तेदार लेफ्ट हैंडेड है तो आप उनके बारे में ये अद्भुत बाते जान सकते है 

धरती पर 12 % से भी ज्यादा आबादी वाले लोग जरुरी काम को करने के लिए अपने बाएं हात का इस्तेमाल करते है. आप जरूर अपने आस पास किसी लेफ्ट हैंड का इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को जानते होंगे। 

बाएं हाथ के लोग अपने दिमाग के दाएं हिस्से का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। इंसानी दिमाग cross-wired है - इसका मतलब यह है के जो लोग अपने बाए हात का इस्तेमाल करते है वे लोग अपने दिमाग के दांए हिस्से का ज्यादा इस्तेमाल करते है और जो लोग अपने दांए हात को इस्तेमाल करता है तो वे अपने दिमाग का बांए हिस्सा ज्यादा इस्तेमाल करते है। 

बाएं हाथ के खिलाड़ी चोट लगने के बाद जल्दी ठीक हो जाते हैं। इंसानी दिमाग का बायां हिस्सा, जिसका इस्तेमाल  दाएं हाथ के लोग ज्यादा करते हैं,  वो हमारी भाषा को नियंत्रित करता है। लेकिन बाएं हाथ के लोग दिमाग का बाईं ओर के हिस्से को कम Dependent होते हैं। इसलिए, वे एक स्ट्रोक के बाद अपनी भाषा की क्षमताओं को तेजी से ठीक कर सकते हैं।

बहुत से खेलों में बाएं हाथ के बल्लेबाजों को काफी फायदा होता है। आमने-सामने होने पर वे आमतौर पर खेल में अच्छे होते हैं। बेसबॉल, मुक्केबाजी, तलवारबाजी और टेनिस जैसे खेलों में, बाएं हाथ के खिलाड़ी अक्सर अपने दाहिने हाथ के खिलाडी के ऊपर भरी पड़ते है, जिनको ज्यादातर दाएं हाथ से खेलने वाले खिलाडी के साथ आदत हो जाती हैं।

बाएं हाथ का इस्तेमाल करने वाले लोगो को टाइपिंग करनी आसान होती है एक रिसर्च से पता लगा है के बांए हात वाले लोग 3000 हजार से ज्यादा इंग्लिश शब्द टाइप कर सकते है जबकि दांए हात वाले लोग केवल 300 शब्द ही टाइप कर पाते है अगर अपने कभी गौर किया होगा तो कीबोर्ड में टाइपिंग शब्द बांए और ही होते है। 

दुनिया में ऐसे लोग भी हैं जो लेफ्ट-साइड वाले लोगो से डरते है या उनसे इर्रिटेट होते है  यह स्थिति एक फोबिया का रूप ले सकती है और इसे सिनिस्ट्रोफोबिया के नाम से जाना जाता है।

Queen's University, बेलफास्ट के एक अध्ययन से पता चलता है कि अगर बच्चा अपनी माँ के पेट में अपने बांए हात को चुस्ता है तो वो बड़ा होकर लेफ्ट हैंडेड बनता है. आनुवंशिकी भी बाएं-हाथ को निर्धारित करने का एक कारण हो सकता है।

कई पुरानी संस्कृतियों और देशों में, बाएं हाथ वाला व्यक्ति होना अप्राकृतिक माना जाता था।  भारत जैसे पूर्वी देशों में या मध्य पूर्व में भी, बाएं हाथ से काम करने को असभ्य माना जाता था। ब्रिटेन में भी, बाएं हाथ के बच्चों को एक बार अपने दाहिने हाथों का उपयोग करने के लिए मजबूर किया जाता था। पर आज का समय वो नहीं है अब दुनिया की सोच बदल चुकी है बांए हात वाले इंसानो को भी अब नार्मल इंसानो की तरह ही देखा जाता है इसमें कोई बुराई नहीं है के एक इंसान अपने दोनों हातो में से अपने बांए हात को ज्यादा इस्तेमाल करता है  


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ