किशमिश (Raisins) Blog: पूरी जानकारी | Raisins Benefits | Nutritional Value of Raisins | किशमिश खाने से कौन सी बीमारी दूर होती है?

0


किशमिश


किशमिश, धूप में सुखाया हुआ अंगूर  है,  और ये सिर्फ एक मीठे snacks से कहीं अधिक है। ये पोषक तत्वों का एक कमाल का पावरहाउस हैं, जो ढेर सारे स्वास्थ्य लाभों के साथ-साथ स्वाद का आनंद भी बढ़ाता हैं। ऊर्जा बढ़ाने से लेकर आपके दिल की सुरक्षा करने तक, जब बात सेहत की आती है तो ये छोटे-छोटे उपाय बहुत कारगर साबित होते हैं। तो, आइए किशमिश की दुनिया में उतरें है और जानते है कि धूप के ये छोटे बंडल आपकी स्वास्थ्य यात्रा को कैसे बेहतर बना सकते हैं।


पोषण पावरहाउस:

किशमिश जरुरी विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट का खजाना है। 


फाइबर: एक एकल सर्विंग (1/4 कप) में 3.5 ग्राम फाइबर मौजूद होता है, जो पाचन और पेट की गंभीर समस्या में  सहायता करता है, रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है और आंत के स्वास्थ्य को बढ़ाते है।


आयरन: प्रकृति का आयरन पूरक, किशमिश इस खनिज से भरपूर होता है, जो ऑक्सीजन परिवहन और ऊर्जा उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण है, खास तौर से महिलाओं और एथलीटों के लिए ज्यादा फायदेमंद है।


पोटेशियम: यह इलेक्ट्रोलाइट रक्तचाप नियंत्रण और मांसपेशियों के कार्य में बड़ी भूमिका निभाता है, और किशमिश आपके दिल और मांसपेशियों को मजबूत रखने का एक शक्तिशाली स्रोत है।


विटामिन बी6: ऊर्जा चयापचय, मस्तिष्क के कार्य और लाल रक्त कोशिका निर्माण के लिए जरुरी है, किशमिश इस आवश्यक विटामिन का एक प्राकृतिक स्रोत है।


एंटीऑक्सिडेंट: किशमिश पॉलीफेनोल्स, विशेष रूप से फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होते हैं, जो एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करते हैं, और कोशिकाओं को कमजोर होने से बचाते हैं और पुरानी बीमारियों के खतरे को भी कम करते हैं।


किशमिश के फायदे 

किशमिश आपकी सेहत को कैसे फायदा पहुंचा सकती है ?


ऊर्जा बूस्टर: किशमिश आसानी से उपलब्ध ग्लूकोज और फ्रुक्टोज का एक प्राकृतिक स्रोत है। यह जल्दी ऊर्जा स्रोत प्री-वर्कआउट या दोपहर की पिक-मी-अप के लिए बेहद फायदा करता है, जो आपको शुगर की समस्या से बचाए रखता है।


पाचन क्रिया: किशमिश में मौजूद फाइबर पोषण पाचन में मदद करके, कब्ज को रोककर और स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को बढ़ाकर आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है।


हृदय का सुरक्षा: किशमिश में पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंट पोषक तत्व रक्तचाप को नियंत्रित करने, खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में और रक्त के थक्कों से बचाने के द्वारा हृदय स्वास्थ्य में योगदान करती है।


अस्थि निर्माता: किशमिश कैल्शियम और बोरोन का एक अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य और ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने के लिए एक महत्वपुर्ण खनिज हैं।


दिमाग की शक्ति बढ़ाने वाला: किशमिश के एंटीऑक्सीडेंट मस्तिष्क की कोशिकाओं को होने वाले नुक्सान से बचाते हैं, जबकि विटामिन B दिमागी कार्य और मेमोरी का समर्थन करते हैं।


ओरल हेल्थ हीरो: किशमिश में ओलीनोलिक एसिड होता है, जिसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं, जो प्लाक और मसूड़े की सूजन से लड़ने में मदद करता है, मौखिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।


किशमिश आपके नाश्ते में चार चाँद लगा देगा 

किशमिश सिर्फ नाश्ते के लिए नहीं है! स्वाद, बनावट और पोषण को बढ़ावा देने के लिए इन्हें अलग अलग व्यंजनों में शामिल किया जा सकता है:


बेक्ड सामान: किशमिश की प्राकृतिक मिठास और चबाने योग्य बनावट के साथ मफिन, कुकीज़ और ब्रेड में इस्तेमाल करके उनके स्वाद को बढ़ा देता है।


स्वादिष्ट व्यंजन: सलाद, करी, चावल के भोजन और कूसकूस में भरपूर मिठास और तीखापन जोड़ें।


ट्रेल मिक्स: पोर्टेबल और पौष्टिक ऊर्जा बढ़ाने के लिए किशमिश को मेवे, बीज और ड्राई फ्रूट्स के साथ मिलाकर खाए।


स्मूदी और दही के कटोरे: मलाईदार मिठास के लिए किशमिश को स्मूदी में मिलाएं या आनंददायक क्रंच के लिए उन्हें दही में मिलाकर खाए।


घर का बना ग्रेनोला: किशमिश घर के बने ग्रेनोला में चबाने योग्य स्वाद और प्राकृतिक मिठास जोड़ती है, जो एक स्वस्थ नाश्ते या नाश्ते के लिए बिल्कुल सही है।


शाम का नाश्ता 


आप जान चुके है के किशमिश ढेर सारे लाभ प्रदान करती है, याद रखें कि शाम महत्वपूर्ण है। अगर इनका ज्यादा सेवन शाम को किया जाए तो उनके अंदर की चीनी सामग्री हानिकारक हो सकती है। recommended serving size (1/4 कप) पर टिके रहें और संतुलित आहार के हिस्से के रूप में उनका आनंद लेते रहे।


किशमिश कौन-कौन सी बीमारियों में मदद करती है ?


मधुमेह प्रबंधन:

किशमिश में चीनी होती है, उनकी प्राकृतिक फाइबर सामग्री ग्लूकोज अवशोषण को धीमा कर देती है, जिससे रक्त शर्करा में वृद्धि को रोका जा सकता है। यह उन्हें मधुमेह वाले लोगों के लिए refined sugar की तुलना में बेहतर विकल्प होता है, खासकर जब कम मात्रा में सेवन किया जाए तो।


कैंसर से बचाव:

किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट शक्ति यहां पर काम आती है। उनकी पॉलीफेनॉल सामग्री, बड़े रूप से प्रोएंथोसायनिडिन, को कोलन और स्तन कैंसर सहित कुछ कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करती है।


वज़न प्रबंधन:

अपनी मिठास के बावजूद, किशमिश वजन कंट्रोल में सहयोगी हो सकती है। उनका फाइबर आपको लंबे समय तक Satisfied महसूस कराती है, over eating से रोकता है, और उनकी प्राकृतिक मिठास unhealthy विकल्पों के बिना लालसा को संतुष्ट कर सकती है।


यौन स्वास्थ्य:

किशमिश, खासकर काली किशमिश, एक प्राकृतिक कामोत्तेजक माना जाता है। उनमें बोरोन होता है, एक खनिज जो टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकता है और पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता में सुधार कर सकता है।


त्वचा का स्वास्थ्य:

किशमिश में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी त्वचा को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने, कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देने और आपकी त्वचा को जवान और चमकदार बनाए रखने में मदद करता है।


नींद में सहायता:

किशमिश में मेलाटोनिन होता है, एक हार्मोन जो नींद-जागने के चक्र को नियंत्रित करता है। सोने से पहले किशमिश को पानी में भिगोने से मेलाटोनिन रिलीज होता है, जिससे नींद की गुणवत्ता बेहतर होती है।


एनीमिया से राहत:

आयरन की कमी एनीमिया का एक सामान्य कारण होता है। किशमिश में मौजूद आयरन तत्व हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने और एनीमिया के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है, विशेष रूप से महिलाओं और गर्भवती व्यक्तियों के लिए फायदेमंद है।


चिंता निवारक:

किशमिश में विटामिन बी, विशेष रूप से बी6, मूड को नियंत्रित करने और तनाव को कम करने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। इनमें मैग्नीशियम भी होता है, एक खनिज जो दिमाग शांत करने के लिए जाना जाता है।


किशमिश खरीदने से सुझाव 

  • हानिकारक रसायनों और कीटनाशकों से बचने के लिए जब भी मुंकिन हो जैविक किशमिश चुनें।
  • healthy विकल्प के लिए सल्फाइट्स से उपचारित किशमिश के स्थान पर प्राकृतिक रूप से धूप में सुखाई गई किशमिश का चयन करें।
  • किशमिश के स्वाद और पोषक तत्वों को सुरक्षित रखने के लिए इसे एक एयरटाइट कंटेनर में ठंडी, और अंधेरी जगह पर रखें।


किशमिश फूड्स 


ग्लेज़्ड सब्जियाँ: अपनी पसंदीदा सब्जियों को भून लें और एक Uniqueऔर स्वादिष्ट साइड डिश के लिए किशमिश-युक्त सॉस के साथ उन्हें ग्लेज़ करें।

मीट रब: चिकन, मेमने या यहां तक कि टोफू के लिए एक स्वादिष्ट रब बनाने के लिए किशमिश को जड़ी-बूटियों और मसालों के साथ मिलाएं।

मसालेदार चटनी: करी या समोसे के साथ तीखी और मीठी चटनी बनाने के लिए किशमिश को मिर्च, अदरक और इमली के साथ मिलाएं खाये।

मिश्रित सिरका: सलाद या ड्रेसिंग के लिए उत्तम स्वाद वाला सिरका बनाने के लिए कुछ हफ्तों तक किशमिश को सिरके में भिगोकर रखें।


निष्कर्ष


खुशहाली की राह पर किशमिश को अपने जीवन का छोटा हिस्सा बनाए। उनका खूब आनंद लें, उन्हें रचनात्मक रूप से शामिल करें, और एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन जिए। याद रखें, छोटे-छोटे बदलाव और सोच-समझकर किया गया उपभोग बड़ा बदलाव ला सकता है। तो, आगे बढ़ें, किशमिश की दुनिया का पता लगाएं, और जीवन की अपनी यात्रा में उन्हें अपने मीठे और स्वस्थ साथी बनने दें। 


Nutrient

Value (per 100g)

Energy

299 kcal

Fat

0.5 g

Saturated fat

0.1 g

Monounsaturated fat

1.4 g

Polyunsaturated fat

0.6 g

Protein

3.1 g

Carbohydrates

79.5 g

Sugars

64.3 g

Fiber

5.3 g

Calcium

50 mg

Iron

1.9 mg

Magnesium

79 mg

Phosphorus

72 mg

Potassium

749 mg

Sodium

26 mg

Vitamin A

22 IU

Vitamin C

2.1 mg

Vitamin B1 (Thiamine)

0.08 mg

Vitamin B2 (Riboflavin)

0.1 mg

Vitamin B3 (Niacin)

0.8 mg

Vitamin B6

0.2 mg

Vitamin B9 (Folate)

5 mcg

Vitamin B12

0.2 mcg

Vitamin E

0.2 mg



TOP SEARCHES

 

#1 किशमिश किसके लिए अच्छे हैं?

किशमिश एक पोषण से भरा अच्छा नाश्ता है जो कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। ये फाइबर का अच्छा स्रोत होता हैं, जो पाचन स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद करता हैं। किशमिश पोटेशियम का भी अच्छा स्रोत है, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए जरूरी है। इसके अलावा, किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो कोशिकाओं को नुकसान से बचाने में मदद कर सकते हैं और पुरानी बीमारियों के खतरे को कम कर सकते हैं।



#2 क्या किशमिश त्वचा के लिए अच्छी है?

जी हां, किशमिश आपकी स्किन के लिए अच्छी होती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट मात्रा अछि खासी होती हैं, जो आपकी स्किन फ्री कणों से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद कर सकते हैं। मुक्त कण समय से पहले बुढ़ापा, झुर्रियां और महीन रेखाओं में योगदान कर सकते हैं। किशमिश विटामिन सी का भी अच्छा स्रोत है, जो कोलेजन बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है। कोलेजन एक प्रोटीन है जो आपकी त्वचा को मजबूत और लोचदार बनाए रखने में मदद करता है।


#3 क्या मैं दूध के साथ किशमिश खा सकती हूं?

जी हां आप किशमिश को दूध के साथ खा सकते हैं. किशमिश और दूध का मिश्रण एक लोकप्रिय ब्रेकफास्ट या नाश्ता है। किशमिश में प्राकृतिक मिठास, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट का एक अच्छा विकल्प है, जबकि दूध कैल्शियम और विटामिन डी जैसे आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। किशमिश और दूध दोनों में वसा और कैलोरी कम होती है। इन दोनों का कॉम्बिनेशन एक स्वस्थ और पौष्टिक नाश्ता बनाता है।


#4 प्रति दिन कितनी किशमिश खानी चाहिए ?

किशमिश एक healthy और tasty नाश्ता है, लेकिन इसे सीमित मात्रा में खाना जरूरी है। एक अच्छा नियम यह है कि प्रतिदिन एक चौथाई कप किशमिश का सेवन करें। यह लगभग 42 ग्राम या 1.5 औंस के करीब, बहुत ज्यादा किशमिश खाने से वजन बढ़ सकता है और अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं, इसलिए संतुलित आहार के हिस्से के रूप में इसका आनंद लेना सबसे अच्छा विकल्प है।


#5 कौन सी किशमिश सबसे अच्छी है?

overall सेहत के लिए अच्छी किशमिश सुनहरी किशमिश होती है, जिसे सुल्ताना भी कहा जाता है। ये फाइबर, पोटेशियम, आयरन और फ्लेवोनोइड का अच्छा स्रोत होता हैं, जो हृदय स्वास्थ्य, पाचन और रक्त शर्करा नियंत्रण के लिए फायदेमंद हैं। काली किशमिश एक और स्वस्थ विकल्प है, क्योंकि वे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं और पुरानी बीमारियों से बचाने में मदद कर सकते हैं। हरी किशमिश कम लाभ देती हैं, लेकिन एक अनोखा स्वाद प्रदान करती हैं और विटामिन सी का अच्छा स्रोत हैं। अंततः, आपके लिए सबसे अच्छी किशमिश आपकी व्यक्तिगत प्राथमिकताओं और स्वास्थ्य आवश्यकताओं पर निर्भर करती है।


#6 कौन सी किशमिश सबसे अच्छी काली या हरी होती है?

#5 कौन सी किशमिश सबसे अच्छी काली या हरी होती है? काली और हरी किशमिश के बीच चयन करना आपकी मर्जी और आहार संबंधी आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। काली किशमिश का स्वाद ज्यादा मीठा होता है और यह आयरन और फाइबर का अच्छा स्रोत है। हरी किशमिश का स्वाद हल्का, तीखा होता है और यह पोटेशियम और विटामिन सी का अच्छा स्रोत है। अंततः, आपके लिए सबसे अच्छी किशमिश वही है जिसका आप सबसे ज्यादा आनंद लेते हैं।


#7 त्वचा को गोरा करने के लिए कौन सी किशमिश अच्छी होती है?

कई प्रकार की किशमिश अपने एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों के कारण संभावित रूप से त्वचा को गोरा करने में योगदान कर सकती हैं। यहां कुछ विकल्प दिए गए हैं:

सुनहरी किशमिश: ये पीली-सुनहरी किशमिश विटामिन सी का अच्छा ड्राई फ्रूट हैं, जो त्वचा की रंगत को निखारने और हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने में मदद करती है।

काली किशमिश: इन गहरे और मोटे किशमिश में ज्यादा स्तर का रेस्वेराट्रोल होता है, एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट जो त्वचा कोशिकाओं को नुकसान से बचाता है और कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है।

सूखे किशमिश: ये छोटे, गहरे रंग के किशमिश पॉलीफेनोल्स से भरपूर होते हैं, जो सूजन को कम करने और त्वचा की लोच में सुधार करने में मदद करते हैं।

सुल्ताना: ये सुनहरी-भूरी किशमिश अपनी हाई पोटेशियम सामग्री के लिए जानी जाती है, जो त्वचा के जलयोजन को बनाए रखने और सूखापन को रोकने में मदद करती है।

मस्कट किशमिश: इन मीठी और सुगंधित किशमिश में एंथोसायनिन सहित विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो त्वचा कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं


#8 क्या मैं रोज किशमिश का पानी पी सकती हूं?

जी हां, आप रोजाना किशमिश का पानी पी सकते हैं। दरअसल, नियमित रूप से किशमिश का पानी पीने से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। किशमिश एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर और पोटेशियम से भरपूर है। ये पोषक तत्व आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने, पाचन में सुधार करने और रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। किशमिश का पानी इलेक्ट्रोलाइट्स का भी अच्छा स्रोत है, जो आपको हाइड्रेटेड रखने में मदद कर सकता है। व्यायाम के बाद या गर्म दिन पर पानी की कमी को पूरा करने के लिए यह एक अच्छा विकल्प है।


#9 क्या मैं किशमिश के पानी से अपना चेहरा धो सकता हूं?

हां, आप किशमिश के पानी से अपना चेहरा धो सकते हैं। यह एक प्राकृतिक टोनर है जो रोमछिद्रों को कसने, त्वचा को चमकदार बनाने और मुंहासों को कम करने में मदद कर सकता है। किशमिश का पानी में एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो आपकी त्वचा को नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है। किशमिश के पानी को टोनर के रूप में उपयोग करने के लिए, बस कुछ किशमिश को 30 मिनट के लिए पानी में भिगो दें। फिर, किशमिश को छान लें और पानी को कॉटन से अपने चेहरे पर लगाएं।


#10 क्या किशमिश पिंपल्स को दूर कर सकती है?

हालांकि किशमिश त्वचा को लाभ पहुंचाने वाले कुछ गुण प्रदान कर सकती है, लेकिन यह सीधे तौर पर पिंपल्स को दूर नहीं कर सकती है। पिंपल्स, जिन्हें मुंहासे भी कहा जाता है, जो विभिन्न कारण से होते हैं, जिनमें हार्मोनल असंतुलन, जीवाणु संक्रमण और बंद छिद्र शामिल हैं। अकेले किशमिश का सेवन करने से इन अंदरूनी कारणों का समाधान होने की संभावना नहीं है। हालांकि, किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर होते हैं, जो त्वचा के स्वास्थ्य में योगदान कर सकते हैं। एंटीऑक्सीडेंट त्वचा कोशिकाओं को नुकसान से बचाने में मदद करते हैं, जबकि फाइबर पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है, जो अप्रत्यक्ष रूप से त्वचा के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है। किशमिश को संतुलित आहार में शामिल करने से त्वचा के स्वास्थ्य में मदद मिल सकती है, लेकिन यह पिंपल्स का सीधा इलाज नहीं है।


#11 क्या किशमिश बालों के विकास के लिए अच्छी है?

जी हां, किशमिश बालों के विकास के लिए अच्छा हो सकता है। वे आयरन का अच्छा स्रोत हैं, जो स्वस्थ बालों के विकास के लिए सही है। आयरन बालों के रोमों तक ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है, जो बाल पैदा करने वाली कोशिकाएं हैं। किशमिश में विटामिन सी भी सही मात्रा में होता है, जो बालों को नुकसान से बचाने में मदद करता है। इसके अलावा, किशमिश में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, स्कैल्प में सूजन को कम करने में मदद करते हैं।


#12 क्या हम बादाम और किशमिश को एक साथ भिगो सकते हैं?

हाँ, हम बादाम और किशमिश को एक साथ भिगो सकते हैं। दोनों को एक साथ रात भर पानी में भिगोने से दोनों के पोषक तत्वों को अवशोषित करना आसान हो जाता है। बादाम में मौजूद फाइटिक एसिड को भी कम करने में मदद मिलती है, जो पोषक तत्वों के अवशोषण को रोक सकता है। बादाम और किशमिश को एक साथ भिगोने के लिए, बस उन्हें रातभर पानी में भिगो दें। सुबह, उन्हें अच्छी तरह से धो लें और खाएं। आप उन्हें अपने दलिया, दही या सलाद में भी शामिल कर सकते हैं।





Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)
To Top