एक दिन में फ़ोन चलाने की लिमिट कितनी होती है जानलो | phone चलाने की overlimit पड़ सकती है भारी😰😰

आज के समय में लोगो के जीने का तरीका बदल चूका है अब लोग पुराने समय की तरह अपनी जिंदिगी नहीं जीते देखा जाये तो समय के साथ चलना बुरा नहीं है जैसे जैसे दुनिया तरक्की कर रही है  वैसे वैसे हमारी आदत्ते बदल रही है पर यहा पर हमे समझना होगा के क्या ये बदलाव हमे नुक्सान तो नहीं पंहुचा रहा। हमे समझना होगा के कही हम अपनी हेल्थ के साथ समझौता तो नहीं कर रहे ? कही ऐसा तो नहीं समय के साथ चलने के चककर में हमने कोई ख़राब आदता तो नहीं अपना ली. आज के समय में ज्यादा तर लोग अपने फ़ोन के कुछ ज्यादा ही पास आ गए है  जो उनका सबसे बेस्ट फ्रेंड बन चूका है जिसके साथ घंटो टाइम पास किया जा सकता है जिसके बिना उन्हें अकेला महसूस होता है. अब सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लोग ज्यादा समय बिताने लगे है  जो उनको बहुत आंनद देता है। पर क्या आप जानते है के ये आंनद जरुरत से ज्यादा बढ़ने से हमे काफी बड़ी मुसीबत में भी डाल सकता है आज हम इसी टॉपिक के ऊपर आपको बताने जा रहे है.के एक इंसान को  एक दिन में कितने टाइम तक फ़ोन इस्तेमाल करना चाहिए जिससे हमारी हेल्थ पर कोई समस्या ना आए। 

RESCUE TIME की रिसर्च के ACCORDING  एक इंसान को  एक दिन मे 3 घंटे 15 मिनट ही फ़ोन चलाना चाहिए जिससे वह फ़ोन से होने वाली समस्या से बच सकता है बहुत सी स्टडी से पता चला है के लोग दिन के 10 से ज्यादा घंटे फ़ोन में बिता देते है जिससे उनकी काम करने की शक्ति कम हो जाती है और तो और वह असल जिंदिगी से भी दूर हो जाते है 3 घंटे से ज्यादा फ़ोन चलना आपकी जिंदिगी में बहुत बड़ी समस्या पैदा कर सकता है. रिसर्च के मुताबिक लिमिट से ज्यादा फ़ोन चलाने से क्या क्या समस्या हो सकती है ये हम आपको आगे बताएंगे।

लिमिट से ज्यादा फ़ोन चलने से होने वाली समस्या :

#1 Reality से दूर होना 

लिमिट से ज्यादा फ़ोन चलना हमे असल दुनिया से दूर कर देता है जिसकी वजह से हम बंधा हुआ महसूस करते है जिससे हम अपने प्रियजनों से भी दूर हो जाते है और उनके रिश्ते पर नेगेटिव आसार पड़ता है। 

 #2 थका हुआ फील करना 

जरुरत से ज्यादा फ़ोन इस्तेमाल करना एक स्पोर्ट्स मैन को भी सुस्त बना सकता है क्योकि ये हमारे एक्टिवनेस को ख़तम कर देता है जिसके बाद कुछ भी करने का मन नहीं करता। 

  #3 नींद की समस्या 

आज लोग सोशल मीडिया को जरुरत से ज्यादा टाइम देने लगे है देर रात तक फ़ोन चलना जिसकी वजह से ज्यादा इनफार्मेशन दीमाक में स्टोर हो जाती है जिसके बाद हमारे दीमाक में वो ही सब घूमता रहता है एक स्टडी से पता चला है हमारे दीमाक में sleep chemical (melatonin) निकलने का समय 10 से 2 तक का होता है 2 बजे के बाद केमिकल निकलना कम होने लगता है। 

#4 हातो की माशपेशियों में दर्द होना 

काफी लम्बे समय तक हातो में फ़ोन रखना शरीर की माशपेशियों और हड्डियों पर बुरा आसार डाल सकता है। इससे हातो में झनझनाहट, दर्द जैसी समस्या हो सकती है। 

#5 focus कम हो जाना। 

 इंटरनेट पर लोग तरह तरह की वीडियोस देकते है जो कुछ ही सेकंड की होती है जिससे उनका फोकस भी कुछ सेकंड का ही बनके रह गया है फ़ोन की दुनिया सीधा हमारे दीमाक पर असर डालती है जिसमे हमारी यादाश भी कमजोर हो जाती है.

#6  गर्दन और आँखों में दर्द होना 

ज्यादा देर तक फ़ोन चलाने से आँखों और गर्दन में दर्द की समस्या हो जाती है फ़ोन की overlimit आपकी आँखों की रौशनी को कम कर सकती है। 

#7 समय बर्बाद हो जाना 

घंटो घंटो फ़ोन चलाने का रूटीन हमे दीमाक से तो सुस्त बनाता ही है उसके साथ साथ आपका कीमती समय भी बर्बाद कर देता है।          

   

        

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ