Microprocessor kya hai ? और कैसे काम करता है in hindi

हेलो दोस्तों हम आपका फिरसे स्वागत करते है। आज हम आपको एक बहुत ही जरुरी कंप्यूटर कॉम्पोनेन्ट की जानकारी देने जा रहे है। जिसका नाम है microprocessor क्या है। क्या आप जानते है के माइक्रोप्रोसेसर क्या है। वैसे अपने इसके बारे में पहले जरूर सुना तो होगा पर शायद आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होगी। आज हम अपने इस आर्टिकल से आपको माइक्रोप्रोसेसर के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। 

माइक्रोप्रोसेसर एक कंप्यूटर प्रोसेसर होता है जो कंप्यूटर की लाखो ट्राजिस्टर को एक साथ IC या इंटीग्रेटेड सर्किट के रूप में बनाया जाता है ये कंप्यूटर के CPU की तरह काम करता है। अगर आप कंप्यूटर में कोई फाइल खोलना चाहते है तो सबसे पहले आपको उस फाइल की कमांड देनी होगी। कमांड आप कैसे भी दे सकते है टाइप कारके या माउस से। उसके बाद माइक्रोप्रोसेसर द्वारा मेमोरी से वो फाइल आपके सामने ओपन हो जाएगी। 

microprocesser kya hai

मइक्रोप्रोसेसर एक कंप्यूटर का प्रोसेस्सर होता है ये एक तरह का सर्किट होता है, जो मदर बोर्ड पर लगा होता है और ये कंप्यूटर का बहुत जरुरी पार्ट होता है, ये सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को कंट्रोल करता है। CPU को चलाने के लिए मइक्रोप्रोसेस्सर की जरुरत होती है, और इसके बहुत सारे कार्य होते है जैसे टाइम को मैनेज करना, बाइनरी डाटा को इनपुट के रूप में लेना, और रजिस्ट्रेस्शन को कंट्रोल करना है,.

मइक्रोप्रोसेस्सर को कंप्यूटर का दिमाग भी  कहा जाता है क्योकि कंप्यूटर के अंदर होने वाले सारे काम मइक्रोप्रोसेस्सर पर ही डिपेंड करते है. आपके द्वारा दी गई हर कमांड मइक्रोप्रोसेस्सर द्वारा ही पूरी हो पाती है, ये आपकी कमांड को इनपुट के रूप में लेता है और प्रोसेसिंग करके आपके सामने वो फाइल या डाटा दिखता है जिसको आप खोलना चाहते है। मइक्रोप्रोसेस्सर हर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में लगाया जाता है, जैसे घडी, कैलकुलेटर मोबाइल फ़ोन, टीवी रिमोट इत्यादि में आप देख सकते है। 

अपने कभी ना कभी अपने टीवी या कंप्यूटर में कोई चिप जरूर देखी होगी, जो मदर बोर्ड के साथ जुडी होती है उसे ही मइक्रोप्रोसेस्सर कहते है, दरअसल इसका काम होता है, अंकगणित, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच में होने वाली प्रोसेसिंग को कंट्रोल करता है. 

Microprocessor का इतिहास (History of Microprocessor In Hindi)

माइक्रोप्रोसेसर ने आज के आधुनिक समय को बदल दिया है आज पूरी दुनिया कंप्यूटर पर डिपेंड है। बड़ी बड़ी कम्पनिया डिजिटली अपना कारोबार चला रही है जिसमे कंप्यूटर और इंटरनेट सबसे हिस्सेदार है। कप्यूटर दुनिया की एक बहुत बड़ी खोज है जिसने  दुनिया को एक अलग डायरेक्शन दे दी है।

आज के समय में कंप्यूटर दुनिया के बड़े हिस्से को संभल रहे है. आज के दौर में हर कोई कंप्यूटर और इंटरनेट से जुड़ा हुआ है। एक बेहतर सिस्टम को चलाने के लिए एडवांस फीचर्स वाले कंपोनेंट्स की आवशकता पड़ती है। ऐसे ही एक कॉम्पोनेन्ट का नाम है माइक्रोप्रोसेसर जो कंप्यूटर का एक बहुत जरुरी और बड़ा हिस्सा होता है।  

माइक्रोप्रोसेसर का काम कैलकुलेट करना, इंटरनेट पर कमुनिकशन करना, मल्टीमीडिया डिस्प्ले के लिए इस्तेमाल किया जाता है। माइक्रोप्रोसेसर के बनने से पहले सर्किट का इस्तेमाल करके छोटे कम्पूटरो को बनाया जाता था। इन सर्किट्स का इस्तेमाल माइक्रोप्रोसेसर की तरह ही किया जाता था। इसके बाद सन 1971 में पहले कंप्यूटर माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई जिसका नाम था intel 4004.

माइक्रोप्रोसेसर boolean logic के आधार पर बाइनरी ऑपरेशन करता है। और boolean logic के इस्तेमाल से ही 1938 में पहेली बार कंप्यूटर से ऑपरेशन करने की क्षमता आई थी। 1960 के शुरुआती समय में MOS इंटीग्रेटेड सर्किट चिप को बनाया गया उसके बाद 1964 में MOS इंटीग्रेटेड सर्किट चिप को अपग्रेड किया। जिसकी लागत पहले वाले से कम थी। 

पहला कमर्सिअली इस्तेमाल होने वाला माइक्रोप्रोसेसर इंटेल 4004 था जिसकी शुरुआत 1971 में हुई। ये एक सिंगल चिप माइक्रोप्रोसेसर था जिसको (SGT) Silicon-Gate Technology द्वारा बनाया गया था। माइक्रोप्रोसेसर शब्द का इस्तेमाल सबसे पहले 1968 में Viatron Computer System में किया गया था। 

पहला प्रोजेक्ट (First Project)

ये कुछ प्रोजेक्ट्स है जिन्होंने सबसे पहले माइक्रोप्रोसेसर को introduced किया था। सन 1970 में CADC Central Air Data Computer माइक्रोप्रोसेसर Garrett Research's द्वारा प्रस्तुत किया गया था। सितम्बर 1971 में Texas Instruments के द्वारा TMS 1802NC माइक्रोप्रोसेसर प्रस्तुत किया गया। सन 1969 में Four Phase Systems AL1 और नवम्बर 1971 में intel 4004 माइक्रोप्रोसेसर प्रस्तुत किया गया। 

CADC (Central Air Data Computer) क्या है ?

CADC एक Multi Chip Integrated Flight Control System है। जिसको सन 1970 में Garrett Research's द्वारा बनाया गया था। इसका इस्तेमाल अमरीकी Nevy's F - 14 के लिए किया गया था। 

इस माइक्रोप्रोसेसर का इस्तेमाल उचाई से वर्टिकल स्पीड, और हवा की स्पीड और दबाव का पता लगाने के लिए और उन्हें calculate करने के लिए किया जाता था। पहले एयर डटा कंप्यूटर सिस्टम एलेक्ट्रोकैमिकल कंप्यूटर होते थे लेकिन 1968 से 1970 के बीच CADC F - 14  माइक्रोप्रोसेसर का आविष्कार हुआ। 1980 के दशक तक इससे अपग्रेड करके SCADC बनाया जिसकी फुलफॉर्म है (Standard Central Air Data Computer). इसका इस्तेमाल US अमरीकी नौसेना और वायु सेना के विमानों के लिए किया गया। 

TMS 1802NC Microprocessor क्या है ?

17 सितम्बर 1971 को TMS 1802NC मइक्रोप्रोसेस्सर को introduced किया गया था इसका इस्तेमाल कैलकुलेटर के लिए सबसे पहले किया गया था। समय के साथ इसे TMS 0100 के रूप में अपग्रेड किया और इसका इस्तेमाल TI Datamath Calculator में किया गया। TMS 1802NC एक अच्छा प्रोग्राम मइक्रोप्रोसेस्सर था जिसमे 11-bit CPU और 3520-bit ROM और 182-bit RAM शामिल है। 

Four-Phase System AL1 Microprocessor क्या है ?

सन 1969 में Lee Boysel द्वारा Four-Phase System AL1 को डिज़ाइन किया गया था जोकि एक 8-bit चिप था इसमें 8 register और एक ALU शामिल था। उस समय में इससे 24-bit CPU में एक पार्ट के रूप में इस्तेमाल होता था। 

 Intal 4004 Microprocessor क्या है ?

इंटेल 4004 माइक्रोप्रोसेसर को सबसे पहला और सच्चा माइक्रोप्रोसेसर माना जाता है। इसकी शुरुआत 15 नवम्बर 1971 में हुई थी। उस समय में इस माइक्रोप्रोसेसर की कीमत 60 डॉलर थी। और तीन देशो के इंजीनियरो द्वारा इसको डिज़ाइन किया गया था। जिनके नाम यह है अमरीकी इंजीनियर Marcian Hoff और Stanley Mazor | Italian इंजीनियर Federico Faggin  | जापानी इंजीनियर Masatoshi Shima. 

8-bit Design Microprocessor 

1971 में - इंटेल 4004 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई 

1972 में - इंटेल 8008 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई 

1974 में - इंटेल 8080 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई 

1976 में - Zilog Z80 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई 

1978 में - MC6809 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई 

1982 में - (WDC) Western Design Center CMOS WDC 65C02 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

12-bit Design Microprocessor 

1980 में - Harris HM-6100 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

16-bit Design Microprocessor

1973 में - सेमीकंडक्टर IMP-16 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

1976 में - MCO-1600, TMS 9900 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

1978 में - insel 8086 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई।

1984 में - (WDC) Western Design Center CMOS 65816 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई।

32-bit Design Microprocessor 

1979 में - Motorola MC68000 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई।

1980 में - AT&T Bell Labs BELLMAC-32A माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई।

1981 में - पहला 32-bit Intel iAPX 432 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई।

1984 में - WE 32000 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

64-bit Design Microprocessor 

2003 में - AMD64 माइक्रोप्रोसेसर की शुरुआत हुई। 

Microprocessor काम कैसे करता है ?

माइक्रोप्रोसेसर तीन यूनिट पर काम करता है. Fetch, Decode Execute Units होती है. Fetch यूनिट में कंप्यूटर की मेमोरी से फाइल की इनफार्मेशन को माइक्रोप्रोसेसर में कॉपी किया जाता है। Decode यूनिट में ऑपरेशन करने की इनफार्मेशन को जांचा जाता है इससे ये पता चलता है के कौन से  ऑपरेशन को करने के लिए कहां जा रहा है। और तीसरी यूनिट है Execute इस यूनिट में ऑपरेशन को पूरा किया जाता है।   

मइक्रोप्रोसेस्सर के प्रकार (Microprocessor Types)

Dual Core Microprocessor  

  • नाम से ही समझ सकते है, इसके अंदर दो core मौजूद होते है जो, दुगने पावर से काम करते है 

Quad core Core Microprocessor

  • इसके अंदर चार core होते है जो, CPU कमांड को पढ़ते है और आगे ट्रांसफर करते है 

Hexa core Core Microprocessor

  • इसमें 6 CORE लगी होती है जिसमे DUAL CORE और QUAD CORE से ज्यादा काम काने की क्षमता होती है 

Octa core Core Microprocessor

  • ओक्टा का मतलब होता है 8 CORE से बना ये मइक्रोप्रोसेस्सर बहुत तेजी से प्रोसेसिंग करता है 

Deca core Core Microprocessor

  • ये 10 कोर वाला मइक्रोप्रोसेस्सर है जो अब तक का सबसे एडवांस मइक्रोप्रोसेस्सर है, जो बाकी की तुलना में बहुत तेजी से प्रोसेसिंग करता है। 

8085 MICROPROCESSOR FEATURES 

  • 1977 में इंटेल कंपनी द्वारा बनाया गया 
  • 8 बिट और 3.5  मेगाहर्ट्ज़ तक काम करने की क्षमता है
  • मोबाइल, वाशिंग मशीन, माइक्रोवेव में इस्तेमाल किया जाता है 

8086 MICROPROCESSOR FEATURES 

  • 8085 मॉडल से ज्यादा स्पीड से काम करता है 
  • ये 16 बिट वाला पहला प्रोसेस्सर है 
  • 5 मेगाहर्ट्स तक की क्षमता होती है 
  • इसके दो और  मॉडल होते है 8086-2 (8 MHz), (c)8086-1 (10 MHz)
  • 29,000 transistors से बना होता है 

CISC (COMPLEX INSTRUCTION SET COMPUTER) MICROPROCESSOR FEATURES  

  • कम स्पीड वाला मइक्रोप्रोसेस्सर है 
  • गैमे खेलने, गाने सुनने के लिए इस्तेमाल किया जाता है 
  • कम स्पीड वाले कंप्यूटर में लगा होता है 

RISC (REDUCED INSTRUCTION SET COMPUTER) MICROPROCESSOR FEATURES 

  • सर्वर के लिए इस्तेमाल होता है 
  • फ़ास्ट स्पीड इंस्ट्रक्शन देने के लिए इस्तेमाल होता है 
  • ईमेल, और डेटा बेस जैसे काम के लिए इस्तेमाल होता है 
  • सर्वर कंप्यूटर में उपयोग किया जाता है 

MICROPROCESSOR ADVANTAGES 

  • डिवाइस के अंदर तेजी से डाटा को ट्रांसफर कर सकता है 
  • मइक्रोप्रोसेस्सर का इस्तेमाल डिजिटल काम को करने के लिए किया जाता है 
  • सेकंड में मिलियन्स में डाटा ट्रांसफर कर सकता है 
  • कम पावर को इस्तेमाल करता है 
  • काफी पोर्टेबल है 
  • कम हीट जेनेरेट करता है  
  • लम्बे समय तक चल सकता है 

MICROPROCESSOR DISADVANTAGES 

  • सिर्फ मशीन की भाषा पर डिपेंड होता है
  • काफी COSTLY होता है 
  • साइज में बड़ा होता है 
  • डिज़ाइन को बनाने में बहुत समय लगता है 
  • लिमिटेशन डाटा के साइज पर डिपेंड होती है 

APLICATION OF MICROPROCESSOR 

  • कैलकुलेटर 
  • ट्रैफिक लाइट 
  • गेमिंग सिस्टम 
  • डाटा अकुइसेसशन सिस्टम 
  • मिलिट्री अप्लीकेशन 
  • AC रिमोट 
  • मोबाइल फ़ोन 
  • कंप्यूटर  
  • टीवी 
  • WIFI राऊटर 
  • वाशिंग मशीन 

दोस्तों हमे उम्मीद है के आपको हमारा ये माइक्रोप्रोसेसर वाला आर्टिकल पसंद आया होगा और आपको माइक्रोप्रोसेसर के बारे में बहुत सारी जानकारी भी मिली होगी। अब आप जान गए होंगे के आखिर माइक्रोप्रोसेसर का क्या काम होता है और इसको किस किस तरीके से इस्तेमाल किया जाता है। हमारी पूरी टीम आपके लिए हमेशा डिटेल में जानकारी प्रोवाइड करती रहेंगी। हमारे इस प्लेटफार्म पर आकर आप और भी आर्टिकल को रीड कर सकते है। और अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया है तो हमे कमेंट करके जरूर बताई।  


 



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ