बल्ब का आविष्कार किसने किया ?



क्या आप जानते है ? घर में इस्तेमाल होने वाला बल्ब का आविष्कार किसने किया था। बल्ब की खोज एक शानदार खोज है  जो बिजली की मदद से घर को रोशन करता है और अँधेरे को दूर करता है आज इसके बिना जीवन की कल्पना करना नामुनकिन है। पहले के समय में लोग मोमबत्ती की रौशनी का इस्तेमाल किया करते थे.रात के समय रौशनी का होना इंसान के लिए बहुत सुकून भरा होता था रौशनी की वजह से रात से समय काम करना काफी आसान हो जाता था।  जिसने भी इसकी खोज की है उस इंसान को जिंदगी भर याद रखा जायेगा। आज की दुनिया में बल्ब की एहमीयत बहुत ज्यादा है। 

आज अलग प्रकार के बल्ब मार्किट में आगये है जिससे बिजली की ज्यादा खपत नहीं होती पर इसका श्रे उन पुराने बल्ब को ही जाता है जिसकी वजह से आज बल्ब की दुनिया में इतनी तरक्की हो पाई आज हम आपको बताने जा रहे है की किस इंसान ने बल्ब का आविष्कार किया था।  

लाइट बल्ब का आविष्कार किसने किया ?

बल्ब का आविष्कार, वैज्ञानिक  THAMAS ALVA EDISON ने किया था हालांकि इनसे पहले भी बहुत से वैज्ञानिको ने बल्ब को बनाने की कोशिश की थी पर वह कामयाब नहीं हो पाए , केवल एडिसन ही एक ऐसे आविष्कारक थे जिन्होंने बिजली से चलने वाला बल्ब बनाया यह बल्ब पूरी तरीके से रौशनी देने में शक्षम था। हालांकि ये विचार HUMPHORY DAVY के दिमाक में आया था जो एक ENGLISH CHEMIST थे.पर उन्होंने बस कल्पना ही की थी के बिजली से चलने वाला बल्ब बनाया जा सकता है पर इस कल्पना को सच बनाया थॉमस एडिसन ने उन्होंने कार्बन फिलामेंट लाइट बल्ब बनाया। 

बल्ब का आविष्कार क्यों किया गया ?

इंसान जैसे तरक्की की राह में आगे बढ़ रहा है वैसे वैसे हर कदम पर नई नई समस्या आती है और उनको ठीक करने के किये कोई न कोई रास्ता भी निकल ही आता है ऐसे ही जब लोग पुराने ज़माने में रात के समय मोमबत्ती या मिटटी तेल से घर में रौशनी करते थे तो उससे काफी दुर्घटना होने की सम्भावना होती थी. और यह ज्यादा कारगर भी नहीं थे. जब विकास की गाडी तेजी से बढ़ रही थी. तो बड़ी बड़ी फैक्ट्रिया बनने लगी जिसमे 24 घंटे काम चालू रखना होता था पर यह एक बड़ी समस्या थी के बिना रौशनी के रात के समय काम कैसे किया जाये इसी परेशानी को देखकर बल्ब का आविष्कार हुआ जिससे रात के समय काम करना आसान हो गया इससे बहुत से लोगो को रोजगार भी मिला।   

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ