MP3 की शुरुआत कब हुई ?


क्या आप जानते  है MP3 की शुरुआत कैसे हुई 




हेलो दोस्तों, आज हम  आपको बताएँगे के MP3 और MP4 की शुरुआत कब हुई और इनके कारण मनोरंजन की दुनिया में क्या बदलाव आए तो चलिए शुरू करते है, आज आप अपने फ़ोन में Mp3 गाने सुनते है और Mp4 वीडियो देखते है। जिनके कारण आज हम अपना मनोरंजन कर सकते है।

Mp3 और Mp4 की तकनीक की शुरआत होने से मनोरंजन की दुनिया में एक नया बदलाव देखने को मिला है आने वाले 30 साल में काफी ज्यादा पॉपुलर होगया। लोगो को ये तकनीक बेहद पसंद आई क्योकि इसमें किसी भी बड़ी म्यूजिक फाइल को MP3 में कन्वर्ट करके गाने सुने जा सकते थे जिसके लिए आपको ज्यादा स्पेस की जरुरत नहीं पड़ती। 

Mp3 की शुरुआत तो 90 के दशक में हो गयी थी लेकिन वो आज के Mp3 प्लेयर की तरह नहीं था। दरअसल 1970 के दसक में low-bit-rate coding में ये रिसर्च किया गया। जिसमे उनको लार्ज डिजिटल ऑडियो फाइल को छोटी फाइल में बदलना था जिसमे म्यूजिक की क्वालिटी को कोई नुक्सान ना पहुंचे। 

1998 में पहला मोबाइल Mp3 प्लेयर बनाया गया लेकिन ये मोबाइल प्लेयर कस्टमर्स के लिए उपलब्ध नहीं था इसके बाद दक्षिण कोरिया ने Mp man को रिलीज़ किया जो एक फ़्लैश बेस्ड प्लेयर था और इसके अंदर सिर्फ 12 गाने स्टोर किये जा सकते थे।   

1999 में Mp3 की लोगप्रियता और ज्यादा उभर कर आई जब लोगो को Mp3 को शेयर करने का साधान मिला। 19 साल के एक स्टूडेंट Shawn Fanning ने Mp3 फाइल्स को शेयर करने का सॉफ्टवेयर बनाया जिसका नाम नेप्स्टर था। लोग फ्री में इंटरनेट पर एक दूसरे के सात शेयर कर सकते थे। इस सॉफ्टवेयर के कारण से रिकॉर्डिंग निर्माताओं को काफी नुक्सान हुआ जिसके वजह से नेप्स्टर पिछड़ता चला गया। लेकिनआज हमारे पास बहुत सारे ऐसे प्लेटफार्म मौजूद है जिमे हम Mp3 गाने सुन सकते है जैसे - Spotyfy, gaana, wink इत्यादि।  




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ