magnetic field kese prethvi ki raksha krti hai

 Magnetic field कैसे पृथ्वी की रक्षा करती है 

magnetic field कैसे पृथ्वी की रक्षा करती है



आज हम आपको बताने वाले है के मैग्नेटिक फील्ड किस तरह हमारी प्रथ्वी को सुरक्षा प्रदान करते है चुम्बकत्व जिसको Magnetosphere बोलै जाता है जो प्रथ्वी के चारो तरफ मौजूद होता है और ये प्रथ्वी को चारो और से घेरे रखता है और सूरज की किरणों से होने वाले नुक्सान से भी बचाता है और साथ सी साथ तारो से आने वाले सोलर मटेरियल से भी बचाता है। अगर प्रथ्वी के चारो और ये चुम्बकत्व मौजूद ना हो तो अंतरिक्ष में बहने वाले कण हमारे वातावरण में प्रवेश कर सकते है और ताभाई मचा सकते है। जिससे ओज़ोन परत को खतरा हो सकता है जिसके कारन सूरज की परबेंगनी किरणे जीवन को नस्ट कर सकती है 

magnetosphere के जरुरत के बारे में बात तो ये बेहद जरुरी है हमारे जीवन के लिए अगर यर ना हो तो आप जीवन की कल्पना नहीं कर सकते इसकी तुलना आप मंगल ग्रह से कर सकते है मंगल ग्रह भी प्रथ्वी की तरह ही है लेकिन मंगल पर magnetosphere 4 अरब साल पहले ही खत्म हो गया था। जिसके कारण उसपर अब कोई जीवन नही है। ये माना जाता है के मंगल ग्रह पर जीवन था। लेकिन magnetosphere ना होने की वजह से वहां जीवन ख़त्म हो गया। 

नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर में जियोस्पेस फिजिक्स लेबोरेटरी के एफ्टीहिया ज़ेस्टा ने नोट किया के बिना चुंबकीय क्षेत्र के अलग वातावरण होगा। magnetosphere को समझना अपने आप में बहुत बड़ी बात है अगर साइंटिस्ट magnetosphere समझकर अंतरिक्ष के वातावरण और विधुत पावर के बारे में पता लगा सकते है 

magnetosphere प्रथ्वी के वातावरण के लिए एक मजबूत ढाल है जो अंतरिक्ष की नुक्सान देने वाले वातावरण से बचाती है। magnetosphere समय समय पर अपने आप खुलती और बंद होती रहती है ये दिनमे ऐसा कई बार होता है जिससे magnetosphere और ज्यादा मजबूत हो सके इस दौरान सूरज का चुंबकीय क्षेत्र प्रथ्वी से जुड़ता है जिससे फायर वर्क शुरू होता है। 

प्रथ्वी का magnetosphere सौर हवा से आने वाली ऊर्जा को absorb कर लेता है, और बादमे उसे धरती पर तूफ़ान के रूप में छोड़ता है। जब बल की चुंबकीय रेखाएं तेजी से सोर मंडल में घूमती है तो उसके सात सौरमंडल के कण भी उसके सात घूमने लगते है वैज्ञानिक यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि चुंबकीय क्षेत्र रेखाओं का यह crossdressin - जिसे चुंबकीय पुन: संयोजन कहा जाता है। तेज गति से कणो घूमना magnetosphere की दरार को खोल देता है जिससे वो तूफ़ान के रूप में धरती पर दीखता है। 

मार्च 2015 में नासा ने मैग्नेटोस्फेरिक मल्टीस्केल मिशन को पहेली बार चुंबकीय पुन: संयोजन के इलेक्ट्रॉन भौतिकी का निरीक्षण करने के लिए  लॉन्च किया गया था। चार एमएमएस अंतरिक्ष यान पृथ्वी के मैग्नेटोस्फीयर के सामने के क्षेत्रों में करीब से उड़ान भरते हैं जहां चुंबकीय पुन: संयोजन होता है।

पृथ्वी के magnetosphere के चल रहे अध्ययन में जरुरी है, MMS, NASA और सांझेदार एजेंसियो के मिशनों को पूरा करने में मदद करता है  और इसी के सात नए details का योगदान देता है इन जांचों के डेटा न केवल अंतरिक्ष की Basic physics को जानने में मदद करते हैं,

 

IN ENGLISH 

How does the magnetic field protect the earth

Today we are going to tell you how the magnetic field provides protection to our earth, the magnetism which is called Magnetosphere which is present around the earth and it surrounds the earth from all sides and the damage caused by the sun's rays. Also saves from and simultaneously from the solar material coming from the stars. If this magnetism is not present around the earth, then the particles flowing in space can enter our atmosphere and create havoc. Which can threaten the ozone layer, due to which the ultraviolet rays of the sun can destroy life

Talking about the need of magnetosphere, it is very important for our life, if there is no fear, then you cannot imagine life, you can compare it to Mars, Mars is also like Earth but magnetosphere on Mars 4 Billions of years ago ended. Because of which there is no life on him anymore. It is believed that there was life on Mars. But because of the absence of magnetosphere, life ended there.

Without the magnetic field, there would be a different atmosphere, noted Eftihia Zesta of the Geospace Physics Laboratory at NASA's Goddard Space Flight Center. Understanding the magnetosphere is a big deal in itself, if scientists can understand the magnetosphere and find out about the atmosphere of space and electrical power.

The magnetosphere is a strong shield for the Earth's atmosphere that protects it from the damaging atmosphere of space. The magnetosphere opens and closes on its own from time to time, this happens many times a day so that the magnetosphere can become stronger, during this time the magnetic field of the sun connects to the earth, which starts the fire work.

Earth's magnetosphere absorbs energy from the solar wind, and then releases it to Earth as a storm. When the magnetic lines of force move rapidly in the solar system, so do the particles of its seven solar system. Moving particles at a high speed opens the crack in the magnetosphere, due to which it appears on the earth in the form of a storm.

In March 2015, NASA launched the Magnetospheric Multiscale mission to observe the electron physics of Enigma bar magnetic reconnection. The four MMS spacecraft fly closer to the regions in front of Earth's magnetosphere where magnetic reconnection occurs.

Important in the ongoing study of the Earth's magnetosphere, the MMS helps complete the missions of NASA and partner agencies, and contributes seven new details. The data from these probes not only help to unravel the basic physics of space We do,

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ