Home Loan कैसे ले ? Home Loan Procedure क्या है ?


हेलो दोस्तों हमारे प्लेटफार्म पर आपका स्वागत है और आज हम आपको  जा रहे है के Home Loan कैसे ले ? इस आर्टिकल में हम पूरी जानकारी देंगे के होम लोन लेने के लिए आपको किन चीजों की आवशकता होगी। तो चलिए शुरू करते है। आज हर एक इंसान अपना खुदका घर लेने की इच्छा रखता है लेकिन पेसो की कमी की वजह से अपना घर खरीद पाना नामुनकिन है। आप सब तो जानते ही है के प्रॉपर्टी के दाम पहले के मुकाबले कितनी बढ़ गए है। एक अच्छी खासी जॉब के बाद भी घर के लिए पैसे जुटाने में बहुत साल लग जाते है, तक़रीबन आधे से ज्यादा जीवन तो ऐसे ही बीत जाता है,  और जब घर के लिए पैसे जुटाते है तो उस समय बुढ़ापा आजाता है। जिसके बाद वो मजा नही आ पता जो बुढ़ापे से पहले घर के मिलजाने पर आता है।  

आज हम आपको आपके घर लेने के सपने को पूरा करने का एक तरीका बताने जा रहे है। हम बताने वाले है के आप होम लोन से अपना घर खरीद सकते है और कम उम्र से ही अपने घर का आनंद उठा सकते है। बहुत सारे बैंक आपको लोन प्रोवाइड करते है जिसके बाद आपको बैंक में हर महीने क़िस्त चुकानी पड़ती है, ये किस्ते ज्यादा या काम हो सकती है। आप अपने हिसाब से लोन को चुने। 

1. Home Loan Application Process

Step 1:  सबसे पहले लोन अप्लीकेशन फॉर्म को भरे और उसके सात अपने डाक्यूमेंट्स को जोड़े 

होम लोन लेने के लिए आपको सबसे पहले होम लोन एप्लीकेशन फॉर्म को भरना होगा।  एप्लीकेशन फॉर्म में आपको  अपनी कुछ पर्सनल जानकारी भरनी होगी। 

आवेदक (Applicant) जानकारी :

  • Personal Details (Name, phone Numbers)
  • Residential Address
  • Educational Iinformation
  • Monthly or Yearly Income
  • Employment Details
  • Property Details
  • Estimated Cost of the Property
  • Present Means of Financing the Home Property

 2. Home Loan के लिए, बैंक द्वारा Required Documents

इन डॉक्युमेंट्स को आपको एप्लीकेशन के सात Attach करना है। 

  • Income proof
  • Identity (or ID) proof
  • Age proof
  • Address proof
  • Employment details
  • Educational proof (school/diploma/degree certificates)
  • Bank statements (Last 3 Month)
  • Sallary Slip (Last 2 Month) 
  • Property details on which the loan is applied 
  • Proof of business exsitence

3. Home Loan Processing Fee कितनी होती है ?

जब आप लोन के लिए बैंक में अप्लाई करते है और एप्लीकेशन फॉर्म के सात डाक्यूमेंट्स को Attach कर देते है तो उसके बाद आपको loan अमाउंट के ऊपर हर साल बैंक को fee देनी पड़ती है। ये fee 0.25% से 0.50% तक होती है अगर अपने 20 लाख का लोन लिया है तो आपको हर साल (0.25% = 5000) या (0.50% = 10000) देना होता है। 

ये Fee बैंक को आपके लोन अमाउंट को रखने के लिए दी जाती है। हर बैंक की अपनी HLPF होती है आप अपने हिसाब से लोन को चुन सकते है। एक जरुरी बात बहुत सारे बैंक आपको जीरो Home Loan Processing fee का ऑफर देते है, ऐसे लोन को सोच समझ कर चुनने इन लोन में आपको हाई इंट्रेस्ट रेट का सामना करना पढ़ सकता है।

4. ज्यादा जानकारी के लिए बैंक Field Verification करेगा 

जब आप ऊपर के स्टेप्स को पूरा कर लेते है। जैसे एप्लीकेशन फॉर्म के सात दस्तावेज को attach करता तो उसके बाद आपकी जानकारी बैंक द्वारा चेक की जाएगी हलाकि इस प्रोसेस में 1-2 दिन का समय लग सकता है जब सरे दस्तावेज को जांच लिया जायेगा तब बैंक आपको varification के लिए बैंक बुलाएगा या फिर बैंक से कोई कार्यकर्त्ता आपके घर आएगा आपके बारे में और ज्यादा जानने के लिए और आपसे आमने सामने बात करने के लिए जिससे बैंक को पूरी तसल्ली हो जाए। आपके residential पत्ते को जानने के लिए आपके आस पास के वातावरण को देखने के लिए आपकी करंट स्थिति जानने के लिए बैंक ये वेरिफिकेशन करता है।  
  • residential address Verification 
  • Employer credentials- company address, industry, organization stability 
  • Physical visit to check contact details, property condition, construction quality,  
  • valuation Check 
  • Additionally for under- construction property
  • Stage of construction and satisfactory progress
  • Approved layouts and building plans
5. Documents Valuation 

अगर आपके लिए घर लेना बेहद जरुरी है तो इस बात का ध्यान रखिये के आपको बैंक के साथ कोई बेमानी नहीं करनी है अगर आपकी जिंदिगी में लॉन का पैसा मायने रखता है तो आपको बैंक के सात पूरी ईमानदारी बरतनी होगी। लॉन के लिए अपने अपनी जो भी जानकारी दी है वह एक दम सही होनी चाहिए वरना बैंक आपको लोन नहीं देगा। 

लॉन के लिए कोई भी नकली दस्तावेज या बैंक के साथ धोखाधड़ी करना अपराध है इसके लिए आपको जुरमाना भरना पड़ सकता है और आगे के लिए आपका रिकॉर्ड भी ख़राब हो सकता है। बैंक में लॉन के लिए अपने असली दस्तावेज ही लगाए। 

एक बैंक नीचे दी गयी जानकारियों की जांच करता है 

✅Residential address (पुराना और नया)
✅Work Place address
✅employer Credentials 
✅Workplace contact number
✅Residence contact number

6. Approval/Sanction Process 
 
होम लोन का सबसे जरुरी हिस्सा होता है लोन Aproval या Sanction बैंक लोन के लिए लाखो लोग आवेदन करते है लेकिन कुछ ही ऐसे आवेदक होते है जिनका लोन पास हो पता है। अगर आपके दस्तावेज और बैंक द्वारा की गई इन्वेस्टीगेशन भी सही रही है तो आपका लोन जल्द ही पास होजायेगा लेकिन अगर बैंक को आपके दस्तावेज या फील्ड इन्वेस्टीगेशन में कोई शंका या कमी दिखाई देती है तो आपका लोन रिजेक्ट भी हो सकता है।   

एक बैंक loan Approve करने के लिए कुछ जानकारियों को बड़े ध्यान से और deep जांच करता है नीचे आप उन जानकारियों को देख सकते है। 
  • ✅Qualification, age, and experience details.
  • ✅applicant’s bank Transactions  
  • ✅Monthly and yearly income.
  • ✅Current employer and the type of job 
  • ✅business Type
  • ✅The applicant's ability to pay the interest rate of the loan amount

7. Offer Letter Processing

जब आपका लोन बैंक द्वारा sanctioned या Approve कर दिया जाता है तब बैंक आपके पास एक offer letter भेजता है जिसके अंदर आपके लोन की जरुरी जानकारिया मौजूद होती है। 

✅आपकी Loan राशि जो स्वीकृत की जा रहा है।
✅कुल Loan राशि पर ब्याज दर।
✅ब्याज दर चाहे स्थिर या परिवर्तनशील हो ।
✅Loan की अवधि का विवरण।
✅Loan चुकाने का तरीका।
✅होम Loan के नियम, नीतियां और शर्तें।

जब आवेदक ऑफर लेटर से सहमत होजाता है तो उसको ऑफर लेटर एक डुबलीकेट कॉपी पर sign करके बैंक में जमा करा होता है। इससे रिकॉर्ड के तौर रखा जाता है। 

8. क़ानूनी जांच पड़ताल के बाद प्रॉपर्टी के कागज की प्रोसेसिंग 

जब आवेदक के द्वारा ऑफर लेटर को स्वीकार कर लिया जाता है तो बैंक उसकी प्रॉपर्टी पर ध्यान देता है जिसे आवेदक खरीदना चाहता है जब आवेदक अपनी प्रॉपर्टी को चुन लेता है तो उस प्रॉपर्टी के सभी कागजात बैंक में कमा किये जाते है ये कागजात तब तक बैंक में जमा रहते है जब तक आवेदक लोन की सभी किस्ते ना चुकादे। 

original प्रॉपर्टी के कागज में ये जानकारिया मौजूद होती है। 
  • सेलर का नाम।
  • सेलर की पहचान और पते के प्रमाण।
  • संपत्ति का नाम।
  • संपत्ति का पता।
  • लिखित दस्तावेजों में बताया जाता है यदि सेलर प्राथमिक या वास्तविक मालिक नहीं है।
  • प्राथमिक कानूनी मालिक (यदि कोई हो)।
  • वैधानिक विकास बोर्ड के प्रतिनिधि और सहकारी आवास समिति से एनओसी।
  • यदि भूमि पहले से ही पट्टे पर है, तो बैंक को पट्टेदार से भी एनओसी की आवश्यकता होगी।

बैंक में प्रॉपर्टी के कागजात जमा करने के बाद बैंक उनकी जांच करता है जिसे legal check कहते है इसमें बैंक seller और buyer के बीच होने वाली प्रॉपर्टी डील की चेकिंग की जाती है।
बैंक अपने वकील को ये आवेदक और प्रोपेर्ट के सरे कागजात भेजता है जिसके बाद वकील सभी जांच के बाद बैंक को मंजूरी देता है। 

9. Technical checks & Site Estimation 

बैंक होम लोन के मामले में बहुत ज्यादा सतर्क है इसलिए आवेदक की टेक्निकल या दोहरी जांच पड़ताल की जाती है। आवेदक के द्वारा जो प्रॉपर्टी खरीदी जा रही है, बैंक उस प्रॉपर्टी जी जांच करने के लिए प्रॉपर्टी एक्सपर्ट्स को भेजता है। प्रॉपर्टी एक्सपर्ट Civil Engineer हो सकता है। इनका काम प्रॉपर्टी की कुछ जानकारियों की पुस्टि करना होता है 

  • जिस तरीके से कंस्ट्रक्शन  निर्माण हो रहा है।
  • निर्माण की गुणवत्ता कैसी है ।
  • कार्य प्रगति कितनी अच्छी है ।
  • घर बनाने में लगने वाला समय कितना होगा।
  • घर का लेआउट और क्या गवर्निंग authority ने इसकी अनुमति दी है या नहीं।
  • क्या बिल्डर के पास जमीन पर निर्माण के लिए वैध अपेक्षित प्रमाण पत्र हैं या नहीं ।
  • संपत्ति मूल्यांकन और पर्यावरण क्षेत्र। 
अगर प्रॉपर्टी कंस्ट्रक्शन पहले से ही resale के लिए तैयार है तो तो इसकी कुछ चीजों की जांच की जाएगी 
  • बिल्डिंग की आयु कितनी है।
  • अंदरूनी या बाहरी संपत्ति का रखरखाव।
  • कंस्ट्रक्शन की गुणवत्ता कैसी है।
  • लोन अवधि और यदि बिल्डिंग आवेदक के लोन के अंतर्गत आता है।
  • आसपास का वातावरण और इलाका कैसा है।
  • वैध अपेक्षित प्रमाण पत्र, खरीदार को फ्लैट/घर सौंपने का।
  • गृह संपत्ति पर मौजूदा बंधक।
  • संपत्ति का मूल्यांकन कितना है।
  • बिल्डिंग की स्वीकार की गयी योजना, सरकारी कानूनों का पालन करना आदि।
10. अंतिम डील 

एक बार जब एक्सपर्ट्स के द्वारा प्रोपेर्ट को जांच लिया जाता है तो उसके बाद बैंक का वकील प्रॉपर्टी के लोन की मंजूरी देता है और लोन के सभी डॉक्युमेंट्स का ड्राफ्ट बनाकर उनपर साइन और मोहर लगता है। 

11. Loan Agreement पर sign करना। 

जब सारी कागजी कारवाही हो चुकी होती है उसके बाद आवेदक को अपने होम लोन के अग्रीमेंट के ऊपर हस्ताक्षर करने होते है और 36 महीनो के लिए चेक जमा करना पड़ता है। इसके बाद प्रॉपर्टी के सभी कागजात बैंक को सपने होंगे इसके दौरान बैंक सुरक्षा और साबुत के लिए कागजात लेते हुए वीडियो बना सकता है। 

जब अग्रीमेंट पर हस्ताक्षर होजाते है तो आवेदक को लोन की राशि चेक के माध्यम से दी जाती है जिसके लिए आवेदक को कुछ जरुरी दस्तावेज बैंक में जमा करने होते है। 

अगर आवेदक बहार से और पैसे जुटाने की कोशिश कर रहा है तो आवेदक को बैंक में बताना होगा और बहार से पैसे लेनदेन की स्लिप देनी होगी साबुत के रूप में तभी बैंक आपको आपके लोन की राशि जारी रखेगा।
  
अब आप जान चुके है के Home Loan के लिए क्या क्या जरुई होता है और किन बातो का धुयाँ रखता होता है। हमारे साथ जुड़ने के लिए आपका धन्येवाद हम ऐसी ही आर्टिकल आपके लिए लेकर आते रहेंगे। हमने इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी देने की कोशिस की है हमें उम्मीद है आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। 


IN ENGLISH

How to take Home Loan? What is Home Loan Procedure?


Hello friends welcome to our platform and today we are going to tell you how to take home loan? In this article, we will give complete information about what you will need to get a home loan. So let's get started. Today every person wants to have his own house but due to pasos, it is impossible to buy his own house. You all know how much the property prices have increased as compared to earlier. Even after a good job, it takes many years to raise money for the house, more than half of the life passes like this, and when we raise money for the house, old age comes at that time. After which he does not know the fun that comes when the house is mixed before old age.

Today we are going to tell you a way to fulfill your dream of having a home. We are going to tell that you can buy your home with home loan and enjoy your home from an early age. Many banks provide you loans, after which you have to pay installments every month in the bank, these installments can be more or work. You choose the loan according to you.

1. Home Loan Application Process

Step 1: First of all fill the loan application form and attach your seven documents

To get a home loan, you have to first fill the home loan application form. You will have to fill some of your personal information in the application form.

Applicant Information:

  • Personal Details (Name, Phone Numbers)
  • Residential Address
  • Educational Iinformation
  • Monthly or Yearly Income
  • Employment Details
  • Property Details
  • Estimated Cost of the Property
  • Present Means of Financing the Home Property
 
2. Documents Required by Bank for Home Loan

You have to attach seven of these documents to the application.

Income proof
Identity (or ID) proof
Age proof
Address proof
Employment details
Educational proof (school/diploma/degree certificates)
Bank statements (Last 3 Month)
Salary Slip (Last 2 Month)
Property details of the property on which the loan is applied 
Proof of business exsitence

3. How much is the Home Loan Processing Fee?

When you apply for the loan in the bank and attach the seven documents of the application form, after that you have to pay a fee to the bank every year on top of the loan amount. This fee ranges from 0.25% to 0.50%, if you have taken a loan of 20 lakhs, then you have to pay (0.25% = 5000) or (0.50% = 10000) every year.

This fee is given to the bank to keep your loan amount. Every bank has its own HLPF, you can choose the loan according to you. One important thing is that many banks offer you zero home loan processing fee, choosing such loans wisely can make you face high interest rates in these loans.

4. Bank will do field verification for more details

When you have completed the above steps. For example, if you attach seven documents to the application form, then your information will be checked by the bank, although this process may take 1-2 days, when all the documents are checked, then the bank will call you for verification or the bank will A worker will come to your home to know more about you and to talk to you face to face so that the bank is completely satisfied. The bank does this verification to know your current status to see the

  • environment around you to know your residential address.
  • residential address verification
  • Employer credentials- company address, industry, organization stability
  • Physical visit to check contact details, property condition, construction quality,
  • valuation check
  • Additionally for under- construction property
  • Stage of construction and satisfactory progress
  • Approved layouts and building plans

5. Documents Valuation

If it is very important for you to get a house, then keep in mind that you do not have to do anything redundant with the bank. Whatever information you have given for the lawn should be absolutely correct otherwise the bank will not give you the loan.

Any fake documents for lawn or fraud with the bank is an offense for this you may have to pay a fine and your record may also be damaged in the future. Apply only your original documents for the lawn in the bank.

A bank checks the following information
  • Residential address (old and new)
  • Work place address
  • employer credentials
  • Workplace contact number
  • Residence contact number

6. Approval/Sanction Process
 
The most important part of a home loan is Loan Aproval or Sanction, lakhs of people apply for bank loans, but there are only a few applicants who know that the loan is passed. If your documents and the investigation done by the bank are also correct then your loan will be cleared soon but if the bank finds any doubt or deficiency in your documents or field investigation then your loan can also be rejected.

  • To approve a bank loan, some details are carefully and deeply examined, below you can see those information.
  • Qualification, age, and experience details.
  • applicant's bank Transactions
  • Monthly and yearly income.
  • Current employer and the type of job
  • Business Type
  • The applicant's ability to pay the interest rate of the loan amount

7. Offer Letter Processing

When your loan is sanctioned or approved by the bank, then the bank sends you an offer letter containing the necessary information about your loan.

  • Your loan amount which is being approved.
  • The interest rate on the total loan amount.
  • Whether the interest rate is fixed or variable.
  • Loan tenure details.
  • Loan repayment method.
  • Home Loan Terms, Policies and Conditions.

When the applicant agrees to the offer letter, he has to sign the offer letter on a duplicate copy and submit it to the bank. This is kept as a record.

8. Processing of property papers after due diligence

When the offer letter is accepted by the applicant, the bank pays attention to the property that the applicant wants to buy. It is deposited in the amount till the applicant pays all the loan installments.
  • This information is present in the original property paper.
  • Seller name.
  • Identity and Address Proof of Seller.
  • property name.
  • property address.
  • Stated in written documents if the seller is not the primary or actual owner.
  • Primary legal owner (if any).
  • NOC from representative of Statutory Development Board and Cooperative Housing Society.
  • If the land is already on lease, the bank will also require NOC from the lessee.
After submitting the property papers in the bank, the bank checks them, which is called legal check, in which the bank checks the property deal between the seller and the buyer.
The bank sends all the documents of the applicant and the property to its lawyer, after which the lawyer approves the bank after all the investigations.

9. Technical checks & Site Inspection 

The bank is very cautious in the matter of home loans, so technical or double check is done on the applicant. The property which is being purchased by the applicant, the bank sends the property experts to investigate the property. Property expert can be a civil engineer. Their job is to verify some property information.

  • The way the construction is going on.
  • How is the build quality?
  • How good is the work progress?
  • How long will it take to get the house ready?
  • The layout of the house and whether the governing authority has allowed it or not.
  • Whether the builder has valid requisite certificates for construction on the land or not.
  • Property appraisal and environmental sector
If the property construction is already ready for resale then there are few things to be checked
  • How old is the building?
  • Maintenance of property internally or externally.
  • How is the construction quality?
  • Loan tenure and if the building is covered under the applicant's loan.
  • What is the surrounding environment and area like?
  • Valid requisite certificate, handing over the flat/house to the buyer.
  • Existing mortgage on home property.
  • How much is the property appraised?
  • Approved plan of building, compliance with government laws etc.

10. Final Deal

Once the property is vetted by the experts, then the bank's lawyer approves the loan of the property and all the loan documents are drafted and signed and stamped.

11. Signing on the Loan Agreement.

After all the paperwork is done, the applicant has to sign his home loan agreement and deposit the check for 36 months. After this, all the documents of the property will be dreamed of by the bank, during which the bank can make a video taking the papers for security and proof.

When the agreement is signed, the loan amount is given to the applicant through check, for which the applicant has to submit some important documents to the bank.

If the applicant is trying to raise more money from outside, then the applicant will have to tell the bank and give the slip of the money transaction from outside as a whole, only then the bank will continue your loan amount to you.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ